ऑस्ट्रेलिया ने छठी बार जीता महिला टी20 वर्ल्ड कप का खिताब, साउथ अफ्रीका का सपना टूटा

केपटाउन

आईसीसी महिला टी20 विश्व कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने साउथ अफ्रीका को 19 रन से हरा दिया। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलियाई की महिला टीम रिकॉर्ड छठी बार विश्व चैंपियन बनी है। केपटाउन में खेले गए इस फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मैग लैनिंग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम ने निर्धारित 20 ओवर में बेथ मूनी की बेहतरीन 74 रनों की पारी की मदद से 6 विकेट के नुकसान पर 156 रन का स्कोर का खड़ा किया था।

ऑस्ट्रेलिया के द्वारा दिए 157 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीकी टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 137 रन ही बना सकी। इस तरह मैच को ऑस्ट्रेलिया ने 19 रन से अपने नाम कर लिया। ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारी। इस तरह अजेय रहते हुए उन्होंने विश्व कप की ट्रॉफी के साथ टूर्नामेंट में अपने अभियान को समाप्त किया।

बेथ मूनी दिखाया कमाल
ऑस्ट्रेलिया की धाकड़ ओपनर बल्लेबाज बेथ मूनी एक बार फिर से अपनी टीम के लिए मैच विनर साबित हुईं। उन्होंने अपने दमदार फॉर्म को जारी रखते हुए फाइनल मैच में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 53 गेंद में 74 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 9 चौके और 1 शानदार छक्का भी लगाया। मूनी के अलावा विकेटकीपर बल्लेबाज एलिसा हिली ने भी 18 रनों का योगदान दिया जबकि एश्ले गार्डनर ने 29 रनों का महत्वपूर्ण योगदान दिया। इसके अलावा ग्रास हैरिस और कप्तान मैग लैनिंग ने 10-10 रनों का योगदान दिया।

साउथ अफ्रीका की गेंदबाज नहीं रहे कारगर
मैच में जब पहले गेंदबाजी के साउथ अफ्रीका की टीम मैदान पर उतरी तो उसे शुरुआती सफलता नहीं मिल सकी। हालांकि एलिसा हिली को जरूर मैरीजाने कैप ने 36 रन के स्कोर आउट कर दिया था लेकिन इसके बाद बेथ मूनी और गार्डनर ने पारी को संभाला टीम को एक मजबूत स्कोर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।साउथ अफ्रीका के लिए शबनम इस्माइल और कैप के खाते में दो-दो विकेट आए। इसके अलावा नॉनकुलुलेको म्लाबा और कोल ट्रायन ने एक-एक विकेट झटके।

ताजमिन ब्रिट्स का नहीं चला बल्ला
पूरे टूर्नामेंट में अपने दमदार बल्लेबाजी से चर्चा में रही ताजमिन ब्रिट्स फाइनल मैच में कुछ खास कमाल नहीं दिखा सकीं। फाइनल में वह सिर्फ 10 रन बनाकर ही पवेलियन का रुख कर लिया। इसका प्रभाव यह पड़ा कि ऑस्ट्रेलिया की कसी हुई गेंदबाजी के आगे रन बनाने की रफ्तार पर ब्रेक लग गया। हालांकि ब्रिट्स की जोड़ीदार लौरा वोल्वार्ड्ट ने जरूर अर्धशतकीय पारी खेली लेकिन वह टीम की जीत के लिए काफी नहीं रहा।
इसके अलावा को ट्रायन ने जरूर 25 रनों का योगदान दिया। वहीं मैरीजाने कैप ने 11 रनों की पारी खेली जबकि नादिन डी क्लार्क ने 8 रन बनाए

About bheldn

Check Also

रेप केस में बरी हुए इस क्रिकेटर की मुश्किलें बढ़ीं… अब वर्ल्ड कप से होगा बाहर

काठमांडू, नेपाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान संदीप लामिछाने के लिए हाल ही में एक …