‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी- दुनिया में बढ़ा भारतीय खिलौनों का क्रेज

नई दिल्ली,

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 11 बजे आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में देश-विदेश के श्रोताओं को संबोधित किया. यह पीएम मोदी के इस मासिक रेडियो कार्यक्रम की 98वीं कड़ी है. मन की बात कार्यक्रम का प्रसारण प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को किया जाता है. गौरतलब है कि अगले महीने 8 मार्च को होली है. ऐसे में संभव है कि PM मोदी इस बार होली पर्व को लेकर चर्चा कर सकते हैं. इसके अलावा देश में होने वाले वाले G20 समिट की तैयारियों पर भी बात कर सकते हैं

प्रधानमंत्री मोदी ने यहां कहा बात बनारस की हो, शहनाई की हो, उस्ताद बिस्मिल्लाह खान जी की हो, तो, स्वाभाविक है कि मेरा ध्यान उस तरफ जाएगा ही. हाल में उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार दिए गए। ये पुरस्कार म्यूजिक और परफॉर्मिंग आर्ट के क्षेत्र में उभर रहे, प्रतिभाशाली कलाकारों को दिए जाते हैं. ये कला और संगीत जगत की लोकप्रियता बढ़ाने के साथ ही इसकी समृद्धि में अपना योगदान दे रहे हैं.

-प्रधानमंत्री ने कहा कि आज इस मौके पर मुझे लता दीदी की याद आना बहुत स्वाभाविक है क्योंकि जब ये प्रतियोगिता प्रारंभ हुई थी, उस दिन लता दीदी ने ट्वीट करके देशवासियों से आग्रह किया था कि वे इस प्रथा में जरूर जुड़ें. लोरी राइटिंग कम्पटीशन में, पहला पुरस्कार, कर्नाटक के चामराजनगर जिले के बी.एम. मंजूनाथ जी ने जीता है.

– सरदार पटेल की जयंती यानी एकता दिवस के अवसर पर मैंने मन की बात में तीन कम्पटीशन की बात की थी. ये प्रतियोगिताएं, देशभक्ति पर गीत, लोरी और रंगोली इससे जुड़ी थीं. पीएम मोदी ने आगे कहा- तेजी से आगे बढ़ते हमारे देश में डिजिटल इंडिया की ताकत अब कोने-कोने में पहुंच रही है. ई-संजीवनी नाम का एक एप है. इस एप से वीडियो क्रॉन्फ्रेंस के माध्यम से डॉक्टरी सलाह ले सकते हैं. इसके जरिए 10 करोड़ मरीज और डॉक्टर के साथ अद्भुत नाता है. इसकी उपलब्धि के लिए सभी डॉक्टरों व मरीजों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं. भारत के लोगों ने तकनीक को जीवन का हिस्सा बनाया.

-पीएम मोदी ने कहा कि मन की बात में, जब भारतीय खिलौनों की बात हुई, तो देश के लोगों ने, इसे भी हाथों-हाथ बढ़ावा दे दिया. अब तो भारतीय खिलौनों का इतना क्रेज हो गया है कि विदेशों में भी इनकी डिमांड बहुत बढ़ रही है.. प्रधानमंत्री ने कहा‘मन की बात’ की बात में हमारे द्वारा स्टोरी टेलिंग की भारतीय विधाओं पर बात की गई तो इनकी प्रसिद्धि भी दूर-दूर तक पहुंची है.

-प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे वो दिन याद है, जब हमने मन की बात में भारत के पारंपरिक खेलों के प्रोत्साहन की बात की थी. तुरंत उस समय देश में एक लहर सी उठ गई भारतीय खेलों के जुड़ने की, इन्हें सीखने की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि समाज की शक्ति से ही देश की शक्ति बढ़ती है.प्रधानमंत्री ने कहा- आप सभी के साथ जुड़कर मुझे बहुत खुशी हो रही है. सेंचुरी की तरफ बढ़ते इस सफर में मन की बात को आप सभी ने जनभागीदारी की अभिव्यक्ति का अद्भुत प्लेटफॉर्म बना दिया है.

About bheldn

Check Also

AAP को विदेश से करोड़ों रुपये की अवैध फंडिंग? ED ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट, पार्टी ने बताया मोदी साजिश

नई दिल्ली प्रवर्तन निदेशालय ने आम आदमी पार्टी की गलत तरीके से विदेश से करोड़ों …