गेंद से कहर ढाते हैं, बल्ला नहीं तलवार चलाते हैं, कपिल देव की बराबरी पर पहुंचे जडेजा

इंदौर

स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा बुधवार को कपिल देव के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में 500 विकेट लेने और 5000 रन बनाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए। इस 34 वर्षीय ऑलराउंडर ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होलकर स्टेडियम खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान यह उपलब्धि हासिल की। कंगारू ओपनर ट्रेविस हेड उनके टेस्ट क्रिकेट में 260वां शिकार बने, इस तरह इंटरनेशनल क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में जड्डू 500 शिकार कर गाए। बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा ने 171 वनडे में 189 विकेट और 64 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में 51 विकेट चटकाए हैं।

बल्ला नहीं तलवार चलाते हैं
रविंद्र जडेजा उपयोगी बल्लेबाज भी हैं, उन्होंने टेस्ट मैचों में 36.88 की औसत से 2619 रन बनाए हैं, जिसमें तीन शतक भी शामिल हैं। वनडे में उनके नाम पर 2447 और टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 457 रन दर्ज हैं। भारत के 1983 के विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव यह उपलब्धि हासिल करने वाले देश के पहले खिलाड़ी थे। उन्होंने 131 टेस्ट में 434 विकेट और 225 एकदिवसीय मैचों में 253 विकेट लिए और इस तरह से उनके नाम पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 687 विकेट दर्ज हैं।

क्लब में बड़े-बडे़ दिग्गज
कपिल ने इसके अलावा टेस्ट मैचों में 5248 रन और वनडे में 3783 रन बनाए। कपिल और जडेजा के अलावा विश्व क्रिकेट में जिन अन्य खिलाड़ियों ने यह विशिष्ट उपलब्धि हासिल की उनमें दक्षिण अफ्रीका के जैक कैलिस (25,534 रन और 577 विकेट) और शॉन पोलाक (7,386 रन और 829 विकेट), पाकिस्तान के इमरान खान (7,516 रन और 544 विकेट), वसीम अकरम (6,615 रन और 916 विकेट) और शाहिद अफरीदी (11,196 रन और 541 विकेट), इंग्लैंड के सर इयान बॉथम (7,313 रन और 528 विकेट), श्रीलंका के चामिंडा वास (5,114 रन और 755 विकेट), न्यूजीलैंड के डेनियल विटोरी (6,989 रन और 667 विकेट) और बांग्लादेश के शाकिब अल हसन (13,445 रन और 653 विकेट) शामिल हैं।

जडेजा बल्लेबाजों का बुरा सपना
टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री का मानना है कि जडेजा भारत की सर्वकालिक इलेवन में जगह के लिए बातचीत में अश्विन के साथ शामिल हो सकते हैं। अगर 34 वर्षीय बल्ले और गेंद दोनों से अपने हाल के अच्छे फॉर्म को जारी रख सकते हैं। बाएं हाथ के हरफनमौला खिलाड़ी ने मौजूदा बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी में बल्ले और गेंद दोनों से शानदार प्रदर्शन किया है। नागपुर में उन्होंने पांच विकेट हासिल किए और शानदार अर्धशतक जमाया। इसके बाद दूसरे मैच में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा (7/42) हासिल किया।

About bheldn

Check Also

मेरे को क्या दिखा रहा… DRS के बीच रोहित स्क्रीन पर खुद को देख कैमरामैन पर क्यों भड़के?

रांची भारतीय कप्तान रोहित शर्मा शुक्रवार इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन …