उत्तर पूर्वी राज्यों के प्रदर्शन से निराश कांग्रेस, उम्मीद की किरण बने बंगाल, तमिलनाडु के उपचुनाव

नई दिल्ली

उत्तर पूर्वी राज्यों के चुनावी परिणाम कांग्रेस के लिए काफी निराशजनक दिखाई दे रहे हैं। इन चुनावी नतीजों के बीच कांग्रेस के लिए एक मात्र राहत की बात तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल के उपचुनावों के नतीजे रहे हैं। त्रिपुरा और मेघालय विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन पार्टी की उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा है। हालांकि पार्टी त्रिपुरा, मेघालय में कुछ सीटों पर जीत हासिल करते हुए विधानसभा में कुछ हिस्सा दर्ज करा सकती है। लेकिन नागालैंड में ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है।

मेघालय : मेघालय में कांग्रेस 2018 के चुनावों में 21 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी थी। नवंबर 2021 में कांग्रेस को उस वक़्त झटका लगा जब पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा सहित 12 विधायक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में चले गए। इसके बाद कई अन्य नेताओं का कांग्रेस छोड़कर जाना लगा रहा। मौजूदा चुनाव में कांग्रेस के हिस्से में आ रहे परिणाम के यही बड़े कारण कहे जा सकते हैं।मेघालय में कांग्रेस बड़ी संख्या में नए चेहरों के साथ चुनाव में उतरी थी। इसके 60 उम्मीदवारों में से 47 की उम्र 45 साल से कम थी। हालांकि कांग्रेस के इस मूव का खास असर नहीं दिख पाया है।

त्रिपुरा : पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिपुरा में कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। अभी तक के चुनावी परिणाम के मुताबिक इस बार वह तीन सीटों पर आगे है। पार्टी ने जिन 13 सीटों पर चुनाव लड़ा उनमें से पांच से आठ सीटें जीतने की उम्मीद की थी और उम्मीद की थी कि वामपंथी भारी उठापटक करेंगे। माकपा ने कांग्रेस नेतृत्व से कहा था कि वाम दल 25 से 29 सीटें जीतेंगे। लेकिन लेफ्ट, जिसके पास पिछली बार 16 सीटें थीं, अब तक केवल 11 सीटों पर आगे चल रहा है।

अगरतला सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता सुदीप रॉय बर्मन बड़े अंतर से आगे चल रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा भी कैलाशहर में भारी अंतर से आगे चल रहे हैं। बनमालीपुर में गोपाल चंद्र रॉय राज्य भाजपा प्रमुख राजीव भट्टाचार्य से 1,293 मतों से आगे चल रहे हैं। पाबियाचारा में भी पार्टी को मामूली बढ़त मिली थी, लेकिन कांग्रेस के सत्यबन दास अब 408 मतों से पीछे हैं।

About bheldn

Check Also

‘BJP चुनाव जीतती नहीं, चोरी करती है’, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बोले अरविंद केजरीवाल

सुप्रीम कोर्ट ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव को लेकर ऐतिहासिक फैसला सुनाया. कोर्ट ने रिटर्निंग ऑफिसर …