जॉर्ज सोरोस का विरोध, मुसोलनी की तारीफ… राइट विंग पॉलिटिक्स से इटली में छाईं PM मेलोनी

नई दिल्ली,

भारत दौरे पर आईं इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी वो राजनेता हैं जो विवादों और विडंबनाओं से निकलकर राजनीति में अपनी राह बनाई हैं. पीएम जॉर्जिया मेलोनी का अतीत उस राजनीतिक दल से जुड़ा है जिसे फासिस्ट कहा जाता है. 1996 में जब वो 19 वर्ष की थीं तभी उन्हें यह कहते हुए देखा गया, “मुझे लगता है कि मुसोलिनी एक अच्छा राजनेता था. उसने जो कुछ भी किया, वह इटली के लिए किया. और हमारे पास पिछले 50 वर्षों में उस तरह का कोई राजनेता नहीं था,”

लेकिन 1977 में पैदा हुईं जॉर्जिया मेलोनी 21वीं सदी की दुनिया में पूर्वाग्रहों से मुक्त हैं. हालांकि वे इस वक्त इटली की राजनीति में धुर दक्षिणपंथी खेमे का प्रतिनिधित्व करती है और वे अपनी इस पहचान को गर्व से स्वीकार करती हैं. पिछले साल सितंबर में जब इटली में चुनाव हुए तो उनकी यही साफगोई चुनाव में उन्हें बेपनाह लोकप्रियता और प्रचंड बहुमत दिला गई.

6 साल की बच्ची की मां, लेकिन पार्टनर से नहीं की है शादी
हमने कहा कि जॉर्जिया मेलोनी की दुनिया विडंबनाओं से भरी है तो इसके कई उदाहरण भी हैं. 2019 में उनका एक भाषण काफी चर्चा में रहा था जब उन्होंने कहा था कि मैं जॉर्जिया हूं, मैं एक महिला हूं, मैं एक मां हूं, मैं एक क्रिश्चयन हूं. फैमिली सिस्टम में शिद्दत से यकीन रखने वाली 46 साल की जॉर्जिया 6 साल की एक बेटी की मां है, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने पार्टनर एंड्रिया गियामब्रूनो से शादी नहीं की है. कई सालों से उनका रिश्ता अपने पार्टनर के साथ लिव इन रिलेशनशिप का रहा है. एंड्रिया गियामब्रूनो टीवी जर्नलिस्ट हैं और वे पूर्व पीएम सिल्वियो बर्लूस्कोनी के टीवी चैनल में काम करते हैं.

सेक्सुअल आईडेंटिटी के पक्षधर, लिंग आधारित विचारधारा का विरोध
जॉर्जिया मेलोनी की प्राथमिकताएं क्या है इसका अंदाजा उनके पिछले साल जून में दिए गए एक भाषण से ही मिल गया था. इस भाषण में उन्होंने अपनी प्राथमिकता गिनाते हुए कहा था, “नैचुरल फैमिली सिस्टम को हां है, LGBT लॉबी के लिए जगह नहीं, सेक्सुअल आईडेंटिटी के हम पक्षधर हैं, लेकिन लिंग आधारित विचारधारा का विरोध करते हैं, इस्लामिक हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है, हम अपने सीमाओं की सुरक्षा चाहते हैं, हम मास माइग्रेशन के पक्ष में नहीं हैं. हम बड़े इंटरनेशनल फाइनेंस के पक्ष में नहीं हैं.”

जॉर्ज सोरोस का विरोध
जॉर्जिया मेलोनी जब कहती हैं कि वे बिग इंटरनेशनल फाइनेंस के पक्ष में नहीं है तभी समझ में आता है कि वे अमेरिकी पूंजीपति जॉर्ज सोरोस का विरोध क्यों करती हैं. दरअसल जॉर्जिया मेलोनी समेत कई लोगों का मानना है कि एक एजेंडे के तहत यूरोप को अप्रवासियों से भर दिया जा रहा है. मेलोनी ने कहा था कि जब आप एक दास होते हैं तो आप सोरोस के हित में काम करते हैं. जॉर्जिया मेलोनी ग्रेट रिप्लेसमेंट थ्योरी का भी समर्थन करती हैं. इस थ्योरी का अर्थ है कि एक साजिश के तहत यूरोप की श्वेत डेमोग्राफी को गैर यूरोपियन लोगों से बदला जा रहा है.

वे चाहते हैं हम उन्हें पैरेंट-1 कहें, पैरेंट-2 कहें
जॉर्ज मेलोनी LGBT कम्युनिटी का तीव्र विरोध करती हैं और ये कहती हैं कि इन्होंने सामाजिक सिस्टम को बिगाड़ा है और धर्म के खिलाफ हैं. जॉर्ज मेलोनी कहती हैं, “वे चाहते हैं कि हम उन्हें पैरेंट 1 कहें, पैरेंट 2 कहें, जेंडर एलजीबीटी कहें, सिटीजन एक्स हैं और उनके लिए कोड लगाए. लेकिन हम कोड नंबर नहीं हैं हम अपनी पहचान की रक्षा करेंगे. मैं जियोर्जिया हूं. मैं एक औरत हूं, मैं एक मां हूं, मैं इतालवी हूं, मैं ईसाई हूं, आर मुझसे यह नहीं छीनोगे!

About bheldn

Check Also

गाजा के नुसीरत रिफ्यूजी कैंप पर इजरायल ने की बमबारी, दो दर्जन से ज्यादा फिलिस्तीनियों की मौत

नई दिल्ली, गाजा में उठते धुएं का गुबार. लगातार हो रही बमबारी. बारूद की बौछार …