सोनिया गांधी की तबीयत खराब, दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती

नई दिल्ली,

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती हैं. उन्हें बुखार की शिकायत के बाद गुरुवार को अस्पताल लाया गया था, जहां डॉक्टर्स की निगरानी में उन्हें रखा गया है. सर गंगाराम अस्पताल की ओर से जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी का चेस्ट मेडिसिन डिपार्टमेंट के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. अरूप बासु की निगरानी में इलाज चल रहा है. उन्हें 2 मार्च यानी गुरुवार को बुखार आने के बाद भर्ती कराया गया है. वह लगातार डॉक्टर्स की निगरानी में हैं और कई जांचों के दौर से गुजर रही हैं. उनकी हालत स्थिर है.”

सोनिया गांधी की तबीयत ऐसे समय में खराब हुई है, जब राहुल गांधी विदेश दौरे पर हैं. वह ब्रिटेन की कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में लेक्चर देने के लिए गए हुए हैं. वहां उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र खतरे में है. हम लोग एक निरंतर दबाव है महसूस कर रहे हैं. विपक्षी नेताओं पर केस किए जा रहे हैं. मेरे ऊपर कई केस किए गए. ऐसे मामलों में केस किए गए, जो बनते ही नहीं. हम अपना बचाव करने की कोशिश कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेताओं के फोन में पेगासस डाला गया.

मीडिया और न्यायपालिका पर कब्जा: राहुल
इसके अलावा राहुल गांधी ने कहा कि मीडिया और न्यायपालिका पर कब्जा हो गया है. दलित, अल्पसंख्यकों और आदिवासियों पर हमले हो रहे हैं. कोई भी आलोचना करता है तो उसे धमकाया जाता है. राहुल ने कहा कि जब मैं कश्मीर जा रहा था तो मेरे पास सिक्योरिटी के लोग आए. उन्होंने कहा कि हमें आपसे बात करनी है. उन्होंने बताया कि मैं कश्मीर में यात्रा नहीं कर सकता. यह बुरा विचार है. मुझपर ग्रेनेड फेंके जा सकते हैं. लेकिन मैंने उनसे कहा कि मुझे अपनी पार्टी के लोगों से बात कर लेने दीजिए. मैंने उनसे कहा कि मैं यात्रा करूंगा.

जनवरी में भी अस्पताल में भर्ती हुईं थीं सोनिया
इससे पहले सोनिया गांधी की तबीयत खराब होने के बाद बीती 5 जनवरी को गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल की ओर से बताया गया था कि उन्हें वायरल संक्रमण की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टर्स की एक टीम की निगरानी में उनका इलाज चला था. उस समय सोनिया की बेटी प्रियंका गांधी अपनी मां के साथ मौजूद थीं.

About bheldn

Check Also

मोदी के ‘400-पार’ में बाधा बन रहे थे सिंघवी? बहुमत के बावजूद हराकर दे दिया बड़ा संदेश

नई दिल्ली: कहते हैं राजनीति अंकगणित का खेल नहीं है। अगर इस बयान को हिमाचल …