न्यायपालिका पर विपक्ष की भूमिका निभाने का दबाव नहीं बनाया जा सकता… कानून मंत्री ने कह दी बड़ी बात

नई दिल्ली

क्या विपक्षी दल न्यायपालिक पर दवाब बना रहे हैं? क्या न्यायपालिका विपक्ष के दबाव में आ रहा है? केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने इशारों-इशारों में इसे लेकर बड़ी बात कह दी है। कानून मंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि आजादी के नाम पर अगर हर कोई स्वतंत्र रूप से कार्य करता है तो कानून और व्यवस्था का क्या होगा। कोई भी राजनीतिक दल न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर सवाल नहीं उठा सकता।

‘कोई भी लोकतंत्र पर नहीं उठा सकता सवाल’
कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा, ‘भारतीय न्यायपालिका स्वतंत्र है। और भारतीय न्यायपालिका को कभी भी विपक्षी दल की भूमिका निभाने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है। कोई भी भारतीय लोकतंत्र पर सवाल भी नहीं उठा सकता क्योंकि लोकतंत्र हमारे खून में दौड़ता है।’

‘भारत विरोधी संस्थाओं को देते हैं सक्रिय समर्थन’
उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, ‘इन गिरोहों को भारत विरोधी विदेशी संस्थाओं का भारत के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए सक्रिय समर्थन मिलता है। व्यवस्थित रूप से वे भारतीय लोकतंत्र, भारतीय सरकार, न्यायपालिका और रक्षा, चुनाव आयोग, जांच एजेंसियों जैसे सभी महत्वपूर्ण अंगों की विश्वसनीयता पर हमला करेंगे।’

‘हम भारत के लोग उन्हें मुंहतोड़ जवाब देंगे’
उन्होंने आगे कहा, ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्यों को बेहतर ढंग से समझना चाहिए कि भारत पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में महान कायाकल्प की यात्रा पर निकल पड़ा है। हम भारत के लोग उन्हें मुंहतोड़ जवाब देंगे।’

About bheldn

Check Also

सावधान! अयोध्या में सक्रिय है ये शातिर गैंग, राम मंदिर दर्शन के लिए जाते वक्त रहें सतर्क

अयोध्या, अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के साथ चौतरफा विकास हो रहा है. यहां …