मेरे पिता RSS से थे लेकिन… ब्रिटेन में महिला ने ऐसा क्या कहा कि राहुल बोले… ‘शुक्रिया’ और भड़क गई बीजेपी?

लंदन

कांग्रेस नेता राहुल गांधी वर्तमान में ब्रिटेन यात्रा पर हैं लेकिन उनका यह दौरा भारत में लगातार विवाद खड़े कर रहा है। हाल ही में प्रवासी भारतीयों से बातचीत में राहुल ने कहा कि यह दुनिया में हर जगह बसे, हर भारतीय का ‘कर्तव्य’ है कि वह ‘भारत के मूल्यों के लिए आवाज उठाए और हमारे लोकतंत्र की रक्षा करे’। राहुल का यह जवाब तब आया जब दर्शकों में बैठी एक महिला ने सवाल किया, ‘मुझे अपने देश की स्थिति के बारे में बहुत बुरा लग रहा है। मेरे पिता आरएसएस में थे और उन्हें इस पर गर्व था लेकिन अब वह इस देश को नहीं पहचान पाते हैं। हम, जो अपने देश से बाहर हैं, अपने लोकतंत्र में कैसे शामिल हो सकते हैं और उसे कैसे सशक्त बना सकते हैं?’ राहुल के बयानों की भारत में काफी आलोचना हो रही है।

राहुल गांधी ने इस बातचीत का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है। वीडियो में एक महिला राहुल से कहती है, ‘मेरा नाम मालिनी मेहरा है। दुनिया में 2 करोड़ से ज्यादा प्रवासी भारतीय हैं। एक भारतीय नागरिक होने के नाते मेरा आपसे सवाल है। मैं अपने देश की स्थिति को लेकर बहुत दुखी हूं। मेरे पिता आरएसएस में थे और उन्हें इस पर गर्व था। मगर आज वह उस देश को नहीं पहचान पाते। हम लोग जो भारत से बाहर रह रहे हैं, हम कैसे योगदान दे सकते हैं? हम अपने लोकतंत्र को कैसे मजबूत बना सकते हैं?’

जवाब में राहुल ने कहा- शुक्रिया!
जवाब में राहुल कहते हैं, ‘जब आप खुद को व्यक्त करते हैं, अपने पिता के आरएसएस में होने के बारे में और आज उनके देश को नहीं पहचानने के बारे में, यह अपने आप में एक बड़ी बात है। मेरे कहने से लोगों को लग सकता है कि यह तो पक्षपाती है। लेकिन जब आप कहती हैं, तो इसका प्रभाव बिल्कुल अलग पड़ता है। मेरा मानना है कि लोगों को उन मूल्यों के बारे में बताकर, जिनके लिए आप खड़े हैं, जिनकी आप रक्षा करते हैं। पूरी दुनिया को यह बताकर कि भारत को उन मूल्यों को वापस अपनाने की जरूरत है, आप देश की एक बड़ी सेवा कर रही हैं। इसलिए आपका धन्यवाद।’

भड़के बीजेपी नेता
राहुल के इस वीडियो की बीजेपी नेता काफी आलोचना कर रहे हैं। न्यूज18 से बात करते हुए बीजेपी नेता अमित मालवीय ने कहा, ‘राहुल गांधी भारत और भारतीय संस्थानों की आलोचना करते रहे हैं क्योंकि वे उनकी तरह की राजनीति, उनकी विचारधाराओं और उनके व्यक्तित्व का समर्थन नहीं करते हैं। राहुल गांधी को यह महसूस करना होगा कि उन्हें इस देश के लोगों ने खारिज कर दिया है और वह उन्हें न चुनने के लिए नाराज नहीं हो सकते।’ अमित ने कहा, ‘राहुल को यह महसूस करना होगा कि भारत का प्रधानमंत्री बनना उनका अधिकार नहीं है। उन्हें यह समझना होगा कि लोग उनमें एक व्यक्ति या राजनेता के रूप में कोई योग्यता नहीं देखते हैं।’

ब्रिटेन में राहुल गांधी लगा रहे बड़े आरोप
बीजेपी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने भी राहुल गांधी पर ‘विदेशी हस्तक्षेप की मांग’ करने और विदेशी धरती पर ‘देश को शर्मसार करने’ का आरोप लगाया है। राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि बीजेपी को यह मानना अच्छा लगता है कि भारत में हमेशा वही सत्ता में रहेगी, लेकिन ऐसा है नहीं। राहुल गांधी ने ‘चैथम हाउस’ थिंक टैंक में एक संवाद सत्र के दौरान एक बार फिर दावा किया कि उनके फोन में इजरायल के सॉफ्टवेयर ‘पेगासस’ को डाला गया था क्योंकि उन्होंने बीजेपी पर भारत में असंतोष की आवाज दबाने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।

About bheldn

Check Also

विक्रमादित्य सिंह ने सुक्खू मंत्रिमंडल से इस्तीफा लिया वापस, कहा- हिमाचल सरकार को खतरा नहीं

नई दिल्ली हिमाचल प्रदेश सरकार पर मंडरा रहे संकट के बादल छंट गए हैं। बुधवार …