शराब घोटाला: ‘सबूत हैं तो मुझे गिरफ्तार कर लो’, के कविता की ईडी को सीधी चुनौती

नई दिल्ली,

दिल्ली शराब घोटाले में मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी के कविता का नाम भी सामने आया है. ईडी ने इस केस में उन्हें भी एक आरोपी माना है और 11 मार्च को उन्हें सुनवाई में शामिल होना है. लेकिन उस सुनवाई में शामिल होने से पहले कविता ने ईडी पर कई तरह के सवाल दाग दिए हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि कई रिपोर्ट्स को जानबूझकर मीडिया में लीक किया जा रहा है. आजतक से बात करते हुए इस विवाद पर के कविता ने विस्तार से बात की है.

के कविता ने कहा कि अगर ईडी के पास कोई भी सबूत है तो कोर्ट में मिलें, ये मीडिया ड्रामा क्यों किया जाता है. हर बार कोई रिपोर्ट लीक कर दी जाती है. अगर सबूत है तो कर लो गिरफ्तार. अब के कविता ने ये आरोप तो ईडी पर लगाया है, जिस मामले में उन्हें फंसाया जा रहा है, उस पर भी उन्होंने अपनी सफाई दी. जोर देकर कहा कि असल में बीजेपी को उनसे नहीं उनके पिता और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव से परेशानी है. वो उन्हें रोकना चाहती है. अभी अमित शाह तेलंगाना आएंगे तो किसी को गिरफ्तार कर लेंगे. पीएम मोदी आएंगे, तब किसी की गिरफ्तारी हो जाएगी. ये बीजेपी का एक सेट पैटर्न है विपक्ष के नेताओं की छवि को खराब करने का.

के कविता पर ये भी आरोप है कि उन्होंने खुद को बचाने के लिए कई डिजिटल सबूत नष्ट कर दिए. इस आरोप पर आजतक से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने कोई सबूत नष्ट नहीं किया है. मैंने देखा कि इन लोगों ने बकायदा एक लिस्ट जारी की कि मैंने इतने फोन नष्ट कर दिए. मैंने चेक किया, मेरे पास घर पर वो सभी फोन मौजूद हैं. वो चाहें तो आकर चेक कर सकते हैं. वहीं उनकी तरफ से जो लगातार फोन बदले गए, उस पर भी के कविता ने दो टूक जवाब दिया. उनके मुताबिक वे i phone की शौकीन हैं, ऐसे में जब भी कोई नया मॉडल आता है, वे उसे खरीद लेती हैं. उनके पास सारे फोन घर पर हैं, उन्हें चेक किया जा सकता है.

अब कविता ने ईडी पर ये आरोप भी लगा दिया कि कई लोगों को टॉर्चर किया गया है, उनसे जबरदस्ती नाम बुलवाए गए हैं. इस बारे में कविता ने कहा कि इन्होंने कई लोगों को मारा है, जबरदस्ती नाम बुलवाए गए हैं. कई चीजें इनकी तरफ से की गई हैं. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि वे कभी भी मनीष सिसोदिया से नहीं मिली हैं. किसी को ये भी नहीं पता कि ये घोटाला किस बारे में है.

वैसे ईडी के समन पर कविता पूछताछ में तो शामिल होने ही वाली हैं, लेकिन उससे पहले कल उनकी तरफ से महिला आरक्षण बिल की मांग को लेकर प्रदर्शन होने जा रहा है. 10 मार्च को जंतर मंतर पर विपक्षी दलों का जमावड़ा लगेगा. दरअसल, कांग्रेस के अलावा लगभग सभी 17 विपक्षी दलों के प्रतिनिधि केसीआर की बेटी और बीआरएस नेता कविता के वुमेन रिजर्वेशन बिल की मांग में होने वाले प्रदर्शन में शामिल होंगे. इसमें NC PDP, अकाली दल, TMC, JDU, RJD, SP CPI, cpm, NCP,शिवसेना (उद्धव) JMM, AAP और कुछ निर्दलीय सांसदों के साथ-साथ 29 राज्यों से महिलाओं के संगठन शामिल होंगे.

About bheldn

Check Also

बैंक कर्ज से परेशान किसान ने मुजफ्फरनगर कलेक्ट्रेट पर किया आत्मदाह का प्रयास, नरेश टिकैत ने सुनी पूरी बात

मुजफ्फरनगर मुजफ्फरनगर मेंं भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर किसानों ने कलक्ट्रेट पर धरना दिया। …