जैसे खड़ाऊं रखकर भरत ने किया… गुमसुम बैठे थे केजरीवाल, सिसोदिया की चर्चा सुन मेज थपथपाने लगे

नई दिल्ली

मनीष सिसोदिया के जेल जाने के बाद कैलाश गहलोत दिल्ली के नए वित्त मंत्री बनाए गए। आज वह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली का वार्षिक बजट पेश करने के लिए विधानसभा में आए तो सिसोदिया को याद करना नहीं भूले। शुरुआती दो लाइन के बाद ही गहलोत ने कहा कि मुझे ज्यादा खुशी होती, अगर यह बजट पूर्व डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया फिर से पेश करते। कुछ पल वह रुके और सदन में सत्तापक्ष के सदस्य मेज थपथपाने लगे। कैलाश गहलोत ने कहा कि मनीष सिसोदिया जी मेरे बड़े भाई हैं और जिस प्रकार जब श्रीराम वनवास गए थे और भरत ने उनके खड़ाऊ को राजसिंहासन पर रखकर काम किया था। उसी प्रकार से, उसी भावना के साथ मैं यह बजट पेश कर रहा हूं। इस दौरान पीछे बैठे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल चिंता की मुद्रा में दिखे। हालांकि राम-भरत का प्रसंग सुनकर वह भी मेज थपथपाने लगे।

दिल्ली के वित्त मंत्री ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि जिस प्रकार से मनीष जी ने लाखों-करोड़ों बच्चों की शिक्षा के लिए अच्छा काम किया। उनके परिवार, दिल्लीवासियों और पूरी दुनिया के बच्चों की दुआएं उनके साथ हैं। वह जल्दी ही हमारे बीच लौटेंगे और अगला बजट वही पेश करेंगे। इस पर भी सदन में मेज थपथपाई गई। गहलोत ने कहा कि यह मेरा पहला बजट है। यह बजट दिल्ली के प्रत्येक व्यक्ति की खुशी को बढ़ाएगा। यह लोक कल्याण की पवित्र एवं सच्ची भावना के साथ तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि बजट तैयार करते हुए इस अमर संदेश को सामने रखा गया है- सर्वे भवन्तु सुखिन:। वित्त मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने सेवाओं की ‘डोरस्टेप डिलीवरी’ के जरिये भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त न करने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता साबित की। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली मॉडल या अरविंद केजरीवाल मॉडल से हर देशवासी में आशा की नई किरण दिखाई देती है। समाज के अंतिम व्यक्ति को यह विश्वास होता है कि सरकार उनके परिवार के लिए विश्व स्तरीय शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं मुफ्त प्रदान करेगी।

About bheldn

Check Also

सावधान! अयोध्या में सक्रिय है ये शातिर गैंग, राम मंदिर दर्शन के लिए जाते वक्त रहें सतर्क

अयोध्या, अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के साथ चौतरफा विकास हो रहा है. यहां …