ओमान में भारत के खिलाफ जाकिर का जहरीला प्रोपगैंडा, करवाया हिंदू महिला का धर्मांतरण

नई दिल्ली,

भगोड़ा जाकिर नाइक इन दिनों ओमान सरकार के बुलावे पर दो धार्मिक लेक्चर देने के लिए मस्कट में है. भारत में मनी लॉन्ड्रिंग और हेट स्पीच के कई आरोपों का सामना कर रहे जाकिर नाइक ने ओमान में भी भारत के खिलाफ जगह उगला है. जाकिर ने हिंदू महिला का धर्मांतरण कराने के साथ ही कहा कि भारत में बहुसंख्यक हिंदू मुझसे प्यार करते हैं. लेकिन यह वोट बैंक के लिए समस्या पैदा कर रहा है.

जाकिर ने 23 मार्च को ओमान सम्मेलन में अपना पहला व्याख्यान दिया. इस दौरान जाकिर नाइक ने एक हिंदू महिला का धर्म परिवर्तित करवाया. साथ ही भारत को लेकर भी टिप्पणी की. मस्कट में अपने लेक्चर के दौरान जाकिर नाइक ने आरती नाम की भारतीय हिंदू महिला को इस्लाम कबूल कराया. इस दौरान जाकिर कुछ पढ़ता है और महिला से कहता है कि उसे दोहराए. नाइक ने महिला से कहा कि अब आप इस्लाम धर्म अपना चुकी हैं. अब आप पापरहित हैं. काश आप अपने परिवार में दूसरे लोगों को, अपने दोस्तों को भी इस्लाम धर्म कुबूल करवाने का माध्यम बनें.

जाकिर ने किया सिख जज का जिक्र
मस्कट में अपने धार्मिक व्याख्यान के दौरान जाकिर नाइक ने कहा कि साल 2018 में एक केस में ईडी उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की तैयारी कर रही थी, जबकि मामले की सुनवाई के दौरान एक सिख जज ने कहा था कि उन्हें भाषणों में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला. जाकिर ने कहा कि सौभाग्य से सिख जज ने मेरी कई स्पीच देखी थीं. उन्होंने सरकारी वकील से कहा कि आप मुझे जाकिर की कोई भी एक ऐसी स्पीच बता दें, जिसमें वह आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं. अगर ऐसा हुआ तो मैं उनकी सारी संपत्ति कुर्क कर दूंगा.

‘भारत में बहुसंख्यक हिंदू मुझसे प्यार करते हैं’
जाकिर नाइक ने भारत का जिक्र करते हुए कहा कि भारत में बहुसंख्यक हिंदू मुझसे प्यार करते हैं. वे मुझसे इतना प्यार करते हैं कि यह वोट बैंक के लिए समस्या पैदा कर रहा है. भारत में जब मेरी स्पीच होती है तो उसे सैकड़ों और हजारों लोग सुनने आते हैं. 50 से 100 मिलियन तक. विशेष रूप से बिहार और किशनगंज में कई लोग मुझे सुनने आते हैं. इनमें से 20% गैर-मुस्लिम हैं, इसका मतलब है कि 100 मिलियन में से 20 मिलियन हिंदू हैं और जब वे मुझसे बात करते हैं, वे बताते हैं कि जाकिर भाई जो हमने पिछले दो घंटों में उनके व्याख्यान से क्या सीखा.

जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के प्रयास कर रहा भारत
इससे पहले जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को बयान जारी किया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि नाइक भारत में कई मामलों में आरोपी है और भगोड़ा है. ओमान से उसके प्रत्यर्पण के प्रयास जारी हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि हमने इस मामले को ओमान सरकार और ओमान के अधिकारियों के साथ उठाया है. हम उसे भारत में न्याय का सामना करने के लिए सभी आवश्यक उपाय करना जारी रखेंगे. उन्होंने कहा कि भारत के अन्य देशों के साथ आवश्यक प्रत्यर्पण संधियों की सूची सार्वजनिक डोमेन में है.

जाकिर के प्रत्यर्पण की कोशिश क्यों कर रहा भारत?
ज़ाकिर अब्दुल करीम नाइक वर्तमान में मलेशिया में रह रहा है, 2016 में भारत से भाग गया था, उसके संगठन इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और उसके खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई थी. 2019 में जाकिर पर मलेशिया में सार्वजनिक भाषण देने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था. भारत के अलावा उसका पीस टीवी नेटवर्क बांग्लादेश, कनाडा, श्रीलंका और यूके में भी प्रतिबंधित है. नाइक भारत और विदेशों में मुस्लिम युवाओं और आतंकवादियों को आतंकी गतिविधियां करने के लिए प्रेरित करता रहा है.

19 नवंबर 2022 के मंगलुरु ऑटो ब्लास्ट मामले के मुख्य आरोपी मोहम्मद शारिक इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के वीडियो से प्रभावित और आत्म-कट्टरपंथी था. कर्नाटक पुलिस के अधिकारियों ने शारिक के मोबाइल फोन को जब्त कर लिया था जिसमें जाकिर नाइक के वीडियो थे. और उसके हैंडलर टेलीग्राम और सिग्नल, वायर, इंस्टाग्राम और एलिमेंट जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए इन्हें शेयर करते थे. माना जाता है कि नाइक ने ही 2016 में ढाका बम विस्फोट के लिए उकसाया था. जिसमें 20 लोग मारे गए थे और श्रीलंका में 2019 में बम ब्लास्ट हुआ था, जिसमें 250 से अधिक लोग मारे गए थे. नाइक भारत और बांग्लादेश में वांछित है.

About bheldn

Check Also

सैनिकों की मुइज्जू ने कराई वापसी लेकिन अब खुद मालदीव के बुलावे पर पहुंची भारतीय टीम

नई दिल्ली, मालदीव से जारी राजनयिक तनाव के बीच भारत की एक टेक्निकल टीम मालदीव …