एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे के घर जाकर की मुलाकात, क्या महाराष्ट्र में बन रहे नए सियासी समीकरण?

मुंबई

मुंबई में नए सियासी घटनाक्रम देखने को मिल रहे हैं। मालेगांव की जनसभा में उद्धव ने सावरकर के अपमान के लिए राहुल गांधी को चेतावनी दी। इससे थोड़ी देर पहले ही सीएम एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे से मुलाकात करने के लिए दादर स्थित उनके आवास शिवतीर्थ निवास पहुंचे। हाल ही में राज ठाकरे ने गुढी पाडवा पर अपनी पार्टी की सालाना रैली में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर जबरदस्त निशाना साधा था।

उन्होंने शिंदे से उद्धव ठाकरे की पीछे-पीछे सभाएं करने के बजाय महाराष्ट्र के हित में काम करने की बात कही थी। इसके अलावा, राज ठाकरे ने यह भी टिप्पणी की थी कि उद्धव ठाकरे शिवसेना का धनुष नहीं संभाल पाए, पता नहीं शिंदे संभाल पाएंगे या नहीं। राज की इन टिप्पणियों के बाद और उद्धव ठाकरे की सभा से पहले शिंदे का राज ठाकरे के घर जाकर उनसे मिलना राजनीतिक चर्चाओं की वजह बन गया है।

राज ठाकरे ने गुढी पाडवा सभा के दौरान माहिम में मस्जिद के अवैध निर्माण और सांगली में मस्जिद के अनधिकृत निर्माण की ओर इशारा किया था और राज्य सरकार को इसे हटाने की चेतावनी दी थी। राज ठाकरे की चेतावनी के बाद अगले ही दिन राज्य सरकार ने इस पर कार्रवाई की थी। यही नहीं एकनाथ शिंदे ने विधानमंडल के बजट सत्र के आखिरी दिन राज ठाकरे की जमकर तारीफ भी की। ऐसे में एकनाथ शिंदे के राज ठाकरे के यहां दौरे से यह चर्चा शुरू हो गई है कि क्या यह एक नए राजनीतिक समीकरण की शुरुआत है?

हालांकि शिंदे ने इस बैठक को सिर्फ शिष्टाचार भेंट बताया। इस मौके पर राज ने मुख्यमंत्री का फूलों का गुलदस्ता देकर स्वागत किया। इस मौके पर राज की पत्नी शर्मिला ठाकरे, बेटे अमित ठाकरे और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कुछ कार्यकर्ता मौजूद थे।

About bheldn

Check Also

राहुल ने बनारस में शराब को लेकर ऐसा क्या बोला कि मच गया बवाल, विपक्षी नेताओं ने जमकर निकाली भड़ास

नई दिल्ली, कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा इस वक्त उत्तर प्रदेश में हैं और …