‘खालिस्तानी समर्थकों का भारतीय दूतावास पर हमला…’, भारत सरकार ने कनाडा के हाई कमीश्नर को किया तलब

नई दिल्ली,

भारत ने हाल ही में कनाडा में अपने राजनयिक वाणिज्य दूतावास पर अलगाववादी और चरमपंथी तत्वों के हमले पर कड़ी चिंता व्यक्त करते हुए कनाडा के उच्चायुक्त को तलब किया है. शनिवार को सरकार ने कनाडा में सुरक्षा उल्लंघन और पुलिस बल की उपस्थिति में चरमपंथी तत्वों के बवाल पर स्पष्टीकरण मांगा है.

एक बयान में, विदेश मंत्रालय ने कनाडा को वियना कन्वेंशन के तहत अपने दायित्वों की याद दिलाई और ऐसे व्यक्तियों को गिरफ्तार करने और मुकदमा चलाने के लिए कहा, जिन्हें पहले भी इस तरह के कृत्यों में शामिल होते पाया गया है. मंत्रालय ने उम्मीद जताई कि कनाडाई सरकार अपने राजनयिकों की सुरक्षा और अपने राजनयिक परिसर की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी.

पिछले रविवार को, खालिस्तान समर्थकों के हिंसक विरोध के बाद सुरक्षा कारणों से ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में कनाडा में भारतीय दूत के भाग लेने वाला एक कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था. भारत के उच्चायुक्त, संजय कुमार वर्मा की पश्चिमी तट की पहली यात्रा के स्वागत के लिए ताज पार्क कन्वेंशन सेंटर, सरे में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था. उस समय विरोध प्रदर्शन को कवर करने के लिए कार्यक्रम स्थल पर मौजूद एक भारतीय मूल के पत्रकार, समीर कौशल पर भी प्रदर्शनकारियों ने हमला किया था.

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने ब्रिटेन सरकार पर खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारियों के एक समूह द्वारा लंदन में भारतीय उच्चायोग में तोड़फोड़ करने और परिसर में तिरंगे को गिराने को लेकर सुरक्षा दायित्वों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाया था.

पिछले रविवार को, खालिस्तान समर्थकों के एक समूह ने ब्रिटेन के लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर अलगाववादी नेता अमृतपाल सिंह के झंडे और पोस्टर के साथ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया. सिंह की तस्वीर वाले पोस्टर में लिखा था: फ्री अमृतपाल सिंह, वी वांट जस्टिस, वी स्टैंड विद अमृतपाल सिंह.

About bheldn

Check Also

‘BJP चुनाव जीतती नहीं, चोरी करती है’, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बोले अरविंद केजरीवाल

सुप्रीम कोर्ट ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव को लेकर ऐतिहासिक फैसला सुनाया. कोर्ट ने रिटर्निंग ऑफिसर …