कांग्रेस के डिनर का उद्धव ने किया Boycott, सावरकर के मुद्दे पर दो गुटों में बंटी MVA

नई दिल्ली,

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के अपमान के मुद्दे पर ऊद्धव ठाकरे गुट ने कांग्रेस की डिनर पार्टी का बहिष्कार किया है. दरअसल राहुल गांधी की सदस्यता जाने के बाद से कांग्रेस पार्टी केंद्र की भाजपा सरकार पर हमलावर है. इसी क्रम में रविवार को कांग्रेस ने एक दिवसीय संकल्प सत्याग्रह आयोजित किया था. जिसके बाद आज संसद में तमाम विपक्षी नेता काले कपड़ों में पहुंचे और विरोध जताया.

इसके बाद आज रात कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने तमाम विपक्षी दलों के सांसदों के लिए डिनर पार्टी का आयोजन किया है. लेकिन उद्धव ठाकरे की शिवसेना ने इस डिनर पार्टी का बहिष्कार किया है. ठाकरे गुट का कोई नेता डिनर पार्टी में नहीं जाएगा. ऊद्धव ठाकरे शिवसेना के नेता सांसद संजय राउत ने इसकी पुष्टि की.

सावरकर पर राहुल ने दिया बयान
संजय राउत ने कहा, शिवसेना उद्धव गुट के सांसद राहुल गांधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान पर असहजता के चलते इस डिनर में शामिल नहीं होंगे.

मेरा नाम गांधी है: राहुल गांधी
लोकसभा से सदस्यता गंवाने के बाद शनिवार को राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इस दौरान राहुल गांधी से एक पत्रकार ने सवाल पूछा कि, जब ये लोग ‘माफी मांग लेते कहते हैं’ तो राहुल गांधी क्या सोचते हैं. इस सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा, ‘राहुल गांधी सोचता है कि मेरा नाम सावरकर नहीं है, मेरा नाम गांधी है.’

‘सावरकर का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा’
इस बयान को लेकर उद्धव ठाकरे ने भी राहुल गांधी पर निशाना साधा. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ आक्रामक हो गए और उन्होंने वीर सावरकर के खिलाफ अपमानजनक बयान न देने की चेतावनी दी. उद्धव ठाकरे ने कहा कि सावरकर का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जबसे उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाया है, तबसे यह पहली बार था कि उद्धव ठाकरे ने राहुल गांधी पर हमला किया हो.

ठाकरे ने दी खुली चेतावनी
उद्धव ने आगे राहुल गांधी को चेतावनी दी कि वीर सावरकर उनके भगवान हैं, सावरकर का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. ठाकरे ने अपने भाषण में आगे राहुल गांधी को खुली चुनौती देते हुए कहा कि उनकी पार्टी एमवीए महाविकास अघाड़ी में है क्योंकि वे लोकतंत्र की रक्षा के लिए एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ लड़ रहे हैं. यदि आप एक साथ लड़ना चाहते हैं, तो यह स्पष्ट है कि हमारे भगवान का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उद्धव ठाकरे ने कहा कि सावरकर के खिलाफ एक भी लाइन बर्दाश्त नहीं की जाएगी और यह इस सार्वजनिक मंच पर एक खुली चेतावनी है.

About bheldn

Check Also

मोदी के ‘400-पार’ में बाधा बन रहे थे सिंघवी? बहुमत के बावजूद हराकर दे दिया बड़ा संदेश

नई दिल्ली: कहते हैं राजनीति अंकगणित का खेल नहीं है। अगर इस बयान को हिमाचल …