परमाणु बमों से भरे कमरे में दिखे किम जोंग उन, फिर होने जा रहा सबसे बड़ा धमाका?

किम जोंग उन चाहते हैं कि वैज्ञानिक परमाणु हथियारों की संख्या बढ़ाएं और इसके लिए उन्होंने बम ईंधन का उत्पादन तेज करने के आदेश दिए हैं। मंगलवार को सामने आई तस्वीरों में किम उस परमाणु हथियारों से भरे कमरे में नजर आ रहे हैं। उन्होंने देश की परमाणु हमले की तैयारियों का जायजा लिया।

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अपने परमाणु वैज्ञानिकों को हथियारों की संख्या बढ़ाने के लिए हथियार-ग्रेड सामग्री का उत्पादन बढ़ाने का आदेश दिया है। उत्तर कोरिया से आईं एक बैठक की तस्वीरों में एक छोटा नया सामरिक वॉरहेड भी दिखाई दे रहा है। वॉरहेड को संभवतः दक्षिण कोरियाई सुरक्षा को भेदने के लिए हाल के वर्षों में अलग-अलग तरह की मिसाइलों पर फिट करने के लिए डिजाइन किया गया है। उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण और अमेरिका-दक्षिण कोरिया संयुक्त सैन्य अभ्यास तेज हो गए हैं जिससे क्षेत्र में तनाव काफी बढ़ गया है।

किम ने दिया परमाणु हथियार बढ़ाने का आदेश
अधिकारियों का कहना है कि उत्तर कोरिया आने वाले हफ्तों या महीनों में अपने सैन्य परमाणु कार्यक्रम से अधिक आक्रामक प्रदर्शनों के साथ आगे बढ़ सकता है। इसमें सितंबर 2017 के बाद से पहला परमाणु परीक्षण भी शामिल हो सकता है। कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने कहा कि किम ने सोमवार को एक सरकारी परमाणु हथियार संस्थान में अधिकारियों और वैज्ञानिकों के साथ एक बैठक के दौरान, अपने परमाणु शस्त्रागार का विस्तार करने के लिए बम ईंधन का उत्पादन तेज करने की आवश्यकता पर बल दिया।

परमाणु हथियारों के बीच किम जोंग उन
एजेंसी ने कहा कि किम ने परमाणु जवाबी हमले के लिए देश की योजनाओं का जायजा लिया। वैज्ञानिकों ने उन्हें उत्तर कोरिया की नवीनतम परमाणु-सक्षम हथियार प्रणालियों के साथ-साथ परमाणु हथियारों के लिए टेक्नोलॉजी में प्रगति के बारे में जानकारी दी। एजेंसी की तस्वीरों में किम एक हॉल के अंदर अधिकारियों के साथ बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं जहां कई वॉरहेड मौजूद हैं। यहां खाकी-हरे रंग के लगभग 10 कैप्सूल नजर आ रहे हैं जिनका ऊपरी सिरा लाल रंग का है।

पोस्टर में दिखा ह्वासन -31 वॉरहेड
अन्य हथियारों में ऐसे उपकरण शामिल थे जो बड़े टॉरपीडो जैसे प्रतीत हो रहे थे। हरे रंग के एक उपकरण के पास एक पोस्टर ‘ह्वासन -31’ (Hwasan-31) नामक एक वॉरहेड के बारे में जानकारी देता है। पोस्टर के ग्राफिक्स से पता चलता है कि यह हथियार उत्तर कोरिया की कुछ कम दूरी की बैलिस्टिक प्रणालियों, क्रूज मिसाइलों और एक कथित परमाणु-सक्षम पानी के नीचे के ड्रोन पर फिट हो सकता है, जिसका देश ने पिछले हफ्ते पहली बार अनावरण किया था।

परमाणु परीक्षण के करीब उत्तर कोरिया?
सरकारी मीडिया ने इनमें से किसी भी डिवाइस की पहचान नहीं की है। ह्वासन -31 का आकार और डिजाइन कुछ विशेषज्ञों के अनुसार 19 इंच चौड़ा और 35 इंच लंबा है। यह उत्तर कोरिया के छोटे वॉरहेड बनाने के प्रयासों में प्रगति का सबूत है। कुछ विशेषज्ञ दावा कर रहे हैं कि उत्तर कोरिया अपने अगले परमाणु परीक्षण के करीब बढ़ रहा है।

About bheldn

Check Also

जानलेवा हमले के बाद बाइडेन ने ट्रंप से की फोन पर बात, वॉशिंगटन लौट रहे अमेरिकी राष्ट्रपति

वॉशिंगटन, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर जानलेवा हमले के बाद जो बाइडेन ने …