रमजान में कुरान जलाने पर भड़के इस्लामिक देश, सऊदी अरब ने कही ये बात

नई दिल्ली,

सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज ने डेनमार्क की राजधानी कोपनेहेगन में तुर्की दूतावास के सामने रमजान के दौरान कुरान की प्रति जलाए जाने की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने धुर-दक्षिणपंथी रासमस पलुदन द्वारा कुरान जलाए जाने की निंदा करते हुए संवाद सहिष्णुता और सम्मान के मूल्यों को मजबूत करने, नफरत और उग्रवाद फैलाने वाली हर चीज को खारिज करने की आवश्यकता पर बल दिया.सऊदी अरब की प्रेस एजेंसी, सऊदी प्रेस एजेंसी ने जानकारी दी है कि किंग सलमान ने मंगलवार को जेद्दा में अल-सलाम पैलेस में एक कैबिनेट सत्र के दौरान इस्लाम की पवित्र पुस्तक कुरान जलाने पर चर्चा की.

इस्लाम विरोधी नेता रासमस पलुदन ने शुक्रवार को कोपेनहेगन में तुर्की दूतावास के सामने कुरान की एक प्रति जलाई थी. उसने एक मस्जिद के सामने भी कुरान की एक प्रति को जलाया था. पलुदन का कहना है कि वो हर शुक्रवार ऐसे ही तब तक कुरान की प्रति जलाता रहेगा जब तक कि स्वीडन को नाटो में शामिल नहीं किया जाता. दरअसल, स्वीडन को नाटो में शामिल किए जाने की राह में तुर्की आड़े आता रहा है जिसे लेकर पलुदन तुर्की दूतावास के सामने कुरान की प्रतियां जला रहा है.

पलुदन ने जनवरी में भी कुरान का अपमान किया था. उसने स्वीडन में कुरान की एक प्रति पर खड़े होकर कुरान की एक दूसरी प्रति फाड़ दी थी. सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने इसकी निंदा करते हुए संवाद, सहिष्णुता और सम्मान के मूल्यों को मजबूत करने और उग्रवाद को बढ़ावा देने वाली हर चीज को खारिज करने की आवश्यकता पर जोर दिया.

अरब के सभी मुस्लिम देशों ने लगातार कुरान जलाए जाने की घटनाओं की निंदा की है. इस्लामिक सहयोग संगठन ने ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बहाने चरमपंथी दक्षिणपंथी समूहों द्वारा बार-बार उकसावे’ की निंदा की. संगठन का कहना था कि ये घटनाएं मुसलमानों और इस्लाम के खिलाफ घृणा को बढ़ावा देती हैं. वहीं, मुस्लिम वर्ल्ड लीग (MWL) ने कुरान जलाने की निंदा करते हुए कहा कि यह मुसलमानों को उकसाने वाला कदम था.

MWL के महासचिव डॉ. मोहम्मद अल-इस्सा ने कहा कि चरमपंथियों द्वारा अभिव्यक्ति की आजादी के बहाने ऐसी हरकतें करने की जिद वास्तव में आजादी और उनके मानवीय मूल्यों को नुकसान पहुंचाती है. उन्होंने चेतावनी दी कि इस तरह के कृत्य केवल नफरत फैलाते हैं, धार्मिक भावनाओं को भड़काते हैं और चरमपंथी एजेंडे को पूरा करते हैं. उन्होंने कहा कि इससे धर्मों के बीच संवाद और सद्भाव को बढ़ावा देने के प्रयास भी असफल हो जाते हैं.

संयुक्त अरब अमीरात ने कुरान जलाने की कड़ी निंदा करते हुए कहा इससे समाज अस्थिर होता है और ऐसे कृत्य मानवीय और नैतिक सिद्धांतों का उल्लंघन करते हैं.ओमान ने कुरान जलाने की निंदा करते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया कि चरमपंथी विचारों को प्रोत्साहित करने वाले और धर्मों को नुकसान पहुंचाने वाले सभी कृत्यों का आपराधिकरण किया जाए.वहीं, कतर ने कहा कि रमजान के महीने में ऐसा काम कर एक अरब से अधिक मुसलमानों की भावनाओं के लिए एक खतरनाक उकसावा था.

About bheldn

Check Also

हेल्पर के लिए बुलाकर भारतीयों से रूस में छीना गया पासपोर्ट, जंग लड़ने को किया मजबूर

नई दिल्ली, यूक्रेन से जंग लड़ रहे रूस से एक भयावह रिपोर्ट सामने आ रही …