उम्रकैद की सजा के बाद साबरमती जेल पहुंचा माफिया अतीक अहमद, जानिए क्या कुछ बदल गया

अहमदाबाद

प्रयागराज के उमेश पाल अपहरण केस में उम्रकैद की सजा के बाद माफिया अतीक अहमद फिर से साबरमती जेल पहुंच गया है। तीन दिन पहले 26 मार्च को अतीक अहमद को यूपी पुलिस एमपी-एमएलए कोर्ट में पेश करने के लिए प्रयागराज ले गई थी। 74 घंटे बाद फिर से साबरमती जेल में लौटे अतीक के लिए अब काफी कुछ बदल गया है। उस पर अब साबरमती जेल में सजायाफ्ता कैदियों के नियम लागू होंगे। अतीक अहमद अब मनमाने कपड़े नहीं पहन सकेगा। उसे अब जेल के सफेद कपड़े पहनने पड़ेंगे। तीन दिन अतीक का काफिला देर शाम साढ़े सात बजे साबरमती जेल पहुंचा। जहां कागजी लिखा-पढ़ी के बाद वापस उसे हाई सिक्योरिटी बैरक में भेजा गया। इस दौरान अतीक अहमद बुरी तरह से थका हुआ दिखाई दिया। इस दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही।

अब पुरानी जेल में रहेगा अतीक
साबरमती जेल में अतीक अहमद को अब जहां सजायाफ्ता कैदी के नियमों के हिसाब से रहना पड़ेगा तो वहीं उसे सफेद पोशाक में पुरानी जेल में रखा जाएगा। साबरमती जेल दो हिस्सों में बंटी हुई है। नई जेल में विचारधीन कैदियों को रखा जाता है तो वहीं सजायाफ्ता कैदियों को पुरानी जेल में रखा जाता है, हालांकि दोनों जेलों में हाई सिक्योरिटी बैरक हैं। पुरानी जेल की बैरक में अतीक का शिफ्ट किए जाने की संभावना है। ऐसा पहली बार होगी कि अतीक अहमद को जेल के कपड़े पहनने पड़ेंगे। ऐसे में अगले एक से दो दिन में अतीक को कैदी नंबर के साथ जेल के कपड़े और नई बैरक दी जाएगी।

जेल में तैयारियां हुई शुरू
अतीक अहमद को पहले यूपी पुलिस ने नैनी जेल में रखने की तैयारी की थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के चलते अतीक अहमद को फिर से साबरमती जेल लाया गया है। 28 मार्च को अतीक अहमद के फिर से साबरमती जेल के लिए निकलने पर अतीक के लिए तैयारियां शुरू की। जेल प्रशासन द्वारा अगले 24 घंटे में उसे नई बैरक में शिफ्ट किए जाने की संभावना है।

About bheldn

Check Also

‘नीतीश का NDA में लौटना नुकसानदेह’, दीपांकर भट्टाचार्य ने JDU-BJP दोस्ती को लेकर किया बड़ा खुलासा, सियासी हलचल तय

पटना भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन के नेता दीपांकर भट्टाचार्य ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश …