कांग्रेस बोली- कर्नाटक में बजरंग दल को बैन करेंगे, BJP गुस्से से हुई लाल

बेंगलुरु

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि हम कर्नाटक की जनता को किए गए वादों पर पूरी तरह से खरा उतरेंगे। इस दौरान खरगे ने पुरानी पेंशन योजना पर जोर देते हुए कहा कि राज्य में हमारी सरकार बनने पर इसे बहाल करने का काम किया जाएगा। साल 2006 के बाद के कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन बहाल की जाएगी। खरगे ने कहा कि बजरंग दल और पीएफआई जैसे संगठनों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष खरगे के अलावा पूर्व सीएम सिद्धारमैया और प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार के साथ ही अन्य पार्टी नेता मौजूद रहे। बजरंग दल पर बैन को लेकर कांग्रेस के वादे पर बीजेपी हमलावर दिख रही है। जिसको लेकर असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने सवाल खड़े किए हैं।

कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र की बड़ी बातें
अगले 5 वर्षो में किसान कल्याण के लिए 1.5 लाख रुपए देगी सरकार
दूध पर बढ़ेगी सब्सिडी, 5 रुपए से बढ़कर 7 रुपए किया जाएगा
नारियल किसानों और अन्य के लिए सुनिश्चित की जाएगी MSP
गृह ज्योति योजना के जरिए दी जाएगी 200 यूनिट मुफ्त बिजली
आत्मनिर्भर बनाने के लिए महिलाओं को मुफ्त बस यात्रा की योजना

असम के सीएम सरमा का पलटवार
घोषणा पत्र में बजरंग दल और पीएफआई पर बैन के दावे को लेकर असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने सवाल किए हैं। केरल में कांग्रेस ने मुस्लिम लीग से गठबंधन किया। पहले इन लोगों ने पीएफआई पर बैन की बात क्यों नहीं की? कांग्रेस ने पीएफआई नेताओं के केस वापस क्यों लिए। अब ये लोग बजरंग दल पर बैन की बात कर रहे हैं। सरमा ने कहा कि यह घोषणा पत्र एक सेकुलर पार्टी का नहीं हो सकता है। कर्नाटक चुनाव के लिए कांग्रेस का यह घोषणा पत्र तो पीएफआई के घोषणा पत्र जैसा है।

About bheldn

Check Also

J-K: कुपवाड़ा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, पुंछ में एक जवान शहीद

श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ समय से आतंकी घटनाएं तेज हो गई हैं. इस कड़ी …