सिद्धारमैया मुख्यमंत्री की पहली पसंद, लिंगायत के बीच अभी भी BJP पॉपुलर, कर्नाटक चुनाव का नया सर्वे

नई दिल्ली

कर्नाटक चुनाव का एक नया सर्वे सामने आया है। एनडीटीवी ने Lokniti-CSDS के साथ मिलकर इसे किया है। इस सर्वे में कांग्रेस के लिए ज्यादा राहत की खबर है, वहीं बीजेपी के लिए कुछ चिंताजनक ट्रेंड सामने आए हैं। सीएम की पहली पसंद से लेकर चुनावी मुद्दों तक, कई पहलुओं पर लोगों का मिजाज जानने का प्रयास हुआ है।

सर्वे में सबसे पहले मुख्यमंत्री को लेकर सवाल पूछा गया. नतीजे बताते हैं कि कर्नाटक में कांग्रेस नेता सिद्धारमैया अभी भी खासा लोकप्रिय हैं। 18 से 25 साल उम्र के युवाओं में 40 फीसदी मानते हैं कि सिद्धारमैया बेहतर सीएम साबित होंगे। वहीं 56 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में उनकी लोकप्रियता 44 प्रतिशत देखी गई है. बीजेपी के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को युवाओं द्वारा कुछ खास पसंद नहीं किया जा रहा है, सिर्फ 28 फीसदी उन्हें बतौर मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं। वहीं बुजुर्गों में उनके लिए आंकड़ा 22 प्रतिशत बैठता है।

हैरानी की बात ये है कि इस सर्वे में कर्नाटक के सबसे बड़े नेता बीएस येदियुरप्पा को काफी कम वोट मिले हैं। वे सीएम रेस में पांचवें पायदान पर पहुंच गए हैं। अब सीएम को लेकर तो सर्वे में कांग्रेस आगे दिख ही, इसके अलावा भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी उसने बीजेपी को झटका दिया है।

असल में सर्वे के नतीजे बताते हैं कि कर्नाटक के लोग बीजेपी को ज्यादा भ्रष्ट मान रहे हैं, 59 फीसदी लोगों की राय तो यहीं है। कांग्रेस को लेकर ये आंकड़ा 35% रहा है। परिवारवाद के मामले में भी लोगों ने इस बीजेपी को ज्यादा घेरा है, सर्वे के मुताबिक 59 फीसदी लोग ऐसे हैं जो मान रहे हैं कि भाजपा में कांग्रेस की तुलना में ज्यादा परिवारवाद चल रहा है। कर्नाटक का विकास ज्यादा बेहतर कौन कर सकता है, इस सवाल पर भी 47 प्रतिशत लोगों ने कांग्रेस को पसंद किया है, वहीं बीजेपी को सिर्फ 37 फीसदी लोगों का वोट मिला।

कर्नाटक चुनाव की बात करें तो 10 मई को वोटिंग होने वाली है और 13 मई को नतीजे आएंगे। वर्तमान में राज्य में बीजेपी की सरकार है और बसवराज बोम्मई मुख्यमंत्री हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. उस समय बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और उसके खाते में 104 सीटें गई थीं, कांग्रेस की बात करें तो उसका आंकड़ा 80 पहुंच पाया था और जेडीएस को 37 सीटों के साथ संतुष्ट करना पड़ा था।

 

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …