निकाय चुनाव सिर पर और थम नहीं रही बगावत की बयार, अखिलेश यादव को लगा एक और झटका

लखनऊ

उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के पहले चरण का प्रचार थम गया है। मंगलवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन रहा। अब 4 मई यानी कि गुरुवार को वोटिंग होनी है। ऐसे में अखिलेश यादव की टेंशन बढ़ती जा रही है, जिसकी वजह से समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेताओं की बढ़ती नाराजगी। सांसद और विधायकों के बाद अब सपा सरकार में मंत्री रह चुके नेता ने भी पार्टी का विरोध करते हुए निर्दलीय कैंडिडेट को सपॉर्ट किया है।

संभल के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और उनके विधायक बेटे जियाउर्रहमान बर्क ने निकाय चुनाव में किनारा कर लिया है। सपा उम्मीदवार से इतर दोनों नेताओं ने निर्दलीय कैंडिडेट को समर्थन किया है। उधर, बलिया में सिकंदरपुर विधायक जियाउद्दीन रिजवी भी सपा से खफा हैं। सपा की तरफ से अधिकृत प्रत्याशी दिनेश चौधरी के खिलाफ भीष्म यादव को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर सपॉर्ट कर दिया है।

निकाय चुनाव में नाराज सपा नेताओं की फेहरिस्त में पूर्व मंत्री नारद राय भी शामिल हो गए हैं। उन्होंने सपा कैंडिडेट लक्ष्मण गुप्ता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वह संजय उपाध्याय को बतौर निर्दलीय प्रत्याशी समर्थन कर रहे हैं। इसके साथ ही बाराबंकी, बरेली, हापुड़ सहित अन्य कई जगहों पर समाजवादी पार्टी के नेताओं ने खुलकर नाराजगी जताई है।

About bheldn

Check Also

नड्डा घूमते हैं नोटों भरा बैग लेकर, महिलाएं अब कैसे खरीदें सोना? तेजस्वी का पीएम मोदी-नड्डा पर डबल अटैक

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …