कंगना के आरोपों पर बोले जावेद- अपमानित महसूस किया, लखनऊ से हूं ‘तू’ नहीं ‘आप’ कहते हैं जहां

साल 2020 में कंगना रनौत ने एक इंटरव्यू के दौरान जावेद अख्तर पर आरोप लगाए थे कि उन्हें, जावेद अख्तर से धमकी मिली है. पहले तो जावेद ने इस मामले को जाने दिया और इसपर गौर नहीं किया पर कुछ महीनों बाद जब एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड की तो एक इंटरव्यू में कंगना ने इस पर फिर से बात उठाई. कंगना ने यह तक आरोप लगाया कि जावेद उन्हें सुसाइड करने के लिए उकसा रहे हैं. इसके बाद जावेद ने एक्शन लेते हुए कंगना रनौत के खिलाफ कोर्ट में अर्जी डाली थी, जिस पर 3 मई को सुनवाई हुई है.

अपने पक्ष में जावेद ने क्या कहा?
जावेद अख्तर ने मजिस्ट्रेट के सामने अपना पक्ष रखते हुए कहा- मैं लखनऊ से हूं और वहां हमें ‘तू’ करके नहीं, बल्कि ‘आप’ करके बोलना सिखाया जाता है. कोई भी मेरे से 30-40 साल छोटा ही क्यों न हो, मैं उसको आप करके ही संबोधित करता हूं. मैंने आजतक अपने वकील को तू करके बात नहीं की है. मैं शॉक्ड हूं, जितने भी इल्जाम मुझ पर लगाए गए हैं. वह सच नहीं हैं.

जावेद के वकील जय भारद्वाज ने उनसे सवाल किया तो उन्होंने यह जवाब दिया. जावेद अख्तर ने बताया कि फरवरी 2020 में कंगना ने एक इंटरव्यू में उनपर यह सभी आरोप लगाए थे. जब कुछ महीनों बाद सुशांत का निधन हुआ तो मीडिया में यह बात टॉकिंग प्वॉइंट बन गया. उस समय तो मैंने रिएक्ट नहीं किया, पर जब इसपर बवाल होने लगा और उन्होंने यह तक कह दिया कि मैंने उन्हें सुसाइड करने के लिए उकसाया है, वह मेरे लिए बहुत अपमानजनक स्टेटमेंट रहा. सुशांत के निधन के बाद ‘सुसाइड’ वर्ड का बहुत बज होने लगा था. कंगना अपने कई इंटरव्यूज में कह चुकी हैं कि मैं किसी सुसाइड ग्रुप का हूं और इसी तरह लोगों को सुसाइड करने के लिए उकसाता हूं, पर यह सच बिल्कुल नहीं है. बता दें कि कंगना रनौत के वकील ने जावेद से क्रॉस क्वेश्चन के लिए 12 जून तय की है.

क्या था मामला?
जावेद ने साल 2020 में कंगना के खिलाफ अर्जी दाखिल की थी. दरअसल, जावेद के मुताबिक, वह डॉक्टर रमेश अग्रवाल से मिले थे जो एक फिजीशियन हैं. इस दौरान दोनों के बीच कंगना और ऋतिक के बीच होने वाले विवाद पर बात हुई थी. डॉक्टर ने जावेद को सलाह देते हुए कहा था कि वह दोनों के बीच की लड़ाई खत्म करवाएं, आखिर वह फिल्मी जगत के जानी- मानी शख्सियत हैं. जावेद ने इसपर डॉक्टर को बताया था कि वह ऋतिक को जानते हैं, पर कंगना को ठीक तरह से नहीं जानते, पर वह इस मामले पर एक बार ट्राय करेंगे.

जावेद इस मामले को लेकर पहले ऋतिक के पास गए थे. उन्होंने उनसे कहा था कि वह कंगना के साथ विवाद को खत्म करें, एक-दूसरे को सॉरी कहें और दोस्त बन जाएं. इसपर ऋतिक ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया था. बाद में जब जावेद, कंगना के पास गए तो उन्होंने समझाते हुए उन्हें कहा कि लोग, सारी बातें सुनकर केवल मजाक उड़ा रहे हैं. इन सब चीजों से उनके करियर पर असर पड़ सकता है. पर कंगना ने उनकी बात नहीं मानी. इसके बाद से जावेद की बात कंगना से नहीं हुई.

मजिस्ट्रेट ने जावेद से सवाल करते हुए पूछा कि क्या आपकी और कंगना के बीच साल 2016 से 2020 के बीच बात हुई? जावेद ने कहा कि नहीं. मेरी कोई बात नहीं हुई. मैं और शबाना, हम दोनों ही कंगना की एक्टिंग की सराहना करते हैं. हमने उसे एक बार पार्टी में बुलाया था, पर वह नहीं आई थी. बाद में उनकी तरफ से भी हमें एक बार इंविटेशन आया था. वहीं, कंगना ने जो मीडिया चैनल को इंटरव्यू दिया था, उसमें उन्होंने कहा था कि जावेद साहब ने मुझे कहा कि तुझे सुसाइड करनी पड़ेगी. जावेद के वकील ने इस वीडियो को खुद कोर्ट में पेश किया.

वीडियो प्ले होने के बाद जावेद ने कहा कि मैं इस इंटरव्यू को भूल सकता था, पर लोगों का जिस तरह से इस पर रिएक्शन आया, वह बहुत खराब था. मुझे लखनऊ से लोग फोन कर रहे थे. उनका कहना था कि वह मेरे से यह उम्मीद नहीं रखते. मैंने देखा कि लोग किस तरह यूट्यूब पर वीडियो देख रहे हैं और उसपर रिएक्ट कर रहे हैं. लाखों व्यूज थे वीडियो पर. लोग मुझ पर भड़क रहे थे. बहुत खराब भाषा का इस्तेमाल कर रहे थे. आज उस वीडियो पर 62 लाख व्यूज हैं.

क्यों दर्ज की शिकायत?
कोर्ट में अर्जी दाखिल करने को लेकर जावेद ने कहा- इंटरव्यू में कंगना ने मेरे लिए कहा कि मैं उसका मुंह काला करूंगा. उसको इंडस्ट्री से बाहर फेंक दूंगा. वह जेल जाएगी और अगर जेल गई तो बाहर आने के पास उसके पास कोई चारा नहीं बचेगा, सिर्फ सुसाइड करने के अलावा. मैं किसी सुसाइड गैंग से जुड़ा हूं. मैं बहुत अपसेट हुआ था, यह सब सुनकर. मैंने इग्नोर करने का सोचा, पर फिर आखिर में अर्जी दाखिल की. इसमें भी मुझे 4-5 महीने लग गए. जब, मैंने देखा कि मामला थमने का नाम नहीं ले रहा तो मैंने यह कदम उठाया. मुझपर बहुत प्रेशर था. मैं अपमानित महसूस कर रहा था. लोग मुझे यह वाकया भूलने नहीं दे रहे थे. यह आगे बढ़ता ही जा रहा था. मेरे लिए यह बहुत परेशान करने वाली घड़ी थी. इसलिए फिर मैंने कम्प्लेंट फाइल की.

About bheldn

Check Also

‘नीतीश का दर्द न जाने कोय’, मुख्यमंत्री पर आंखें तरेर रहे एनडीए के साथी और जेडीयू नेता, जानिए

पटना भाजपा के साथ जाकर नीतीश कुमार फंस गए लगते हैं। अधिकारी उनकी बात नहीं …