पहलवानों को समर्थन देने निकली गीता फोगाट को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया, पिता बोले- घेर लेंगे दिल्ली

दिल्ली

दिल्ली पुलिस ने 4 मई 2023 को कॉमनवेल्थ गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट गीता फोगाट और उनके पति पवन सरोहा को हिरासत में ले लिया। गीता फोगाट ने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मुझे और मेरे पति पवन सरोहा को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बहुत दुःखद।’

इससे पहले उन्हें ट्वीट कर लिखा था, ‘अब भी मेरी गाड़ी को करनाल bypass पर आपकी पुलिस ने रोका हुआ है शर्म आती है ऐसी पुलिस पर।’ गीता फोगाट जंतर-मंतर पर धरना दे रहे देश के शीर्ष पहलवानों को समर्थन देने निकलीं थीं। दिल्ली पुलिस ने दोनों को सिंघु बॉर्डर पर हिरासत में लिया। इसके बाद उन्हें बवाना पुलिस थाने ले जाया गया। बता दें कि बुधवार आधी रात के बाद जंतर मंतर पर हुए बवाल के बाद पहलवानों में काफी रोष है।

बबीता फोगाट भी इस लड़ाई का हिस्सा: महावीर फोगाट
इससे पहले गीता फोगाट के पिता और द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर फोगाट ने ऐलान किया कि इंसाफ नहीं मिला तो दिल्ली का घेराव करेंगे। उन्होंने द्रोणाचार्य अवार्ड लौटाने की भी चेतावनी दी है। महावीर फोगाट ने यह भी दावा कि उनकी छोटी बेटी और भाजपा नेत्री बबीता फोगाट भी इस लड़ाई में साथ हैं।

महावीर फोगाट ने दी द्रोणाचार्य अवार्ड लौटाने की चेतावनी
महावीर फोगाट ने कहा, अगर खिलाड़ियों को न्याय नहीं मिला तो मैं भी द्रोणाचार्य पुरस्कार लौटा दूंगा। उन्होंने बुधवार रात जंतर मंतर पर खिलाड़ियों के साथ हुई घटना को निंदनीय करार दिया। महावीर फोगाट शुरुआत से ही पहलवानों का समर्थन कर रहे है। वह कुछ दिन जंतर-मंतर पर भी धरने पर बैठे थे। उन्होंने बृजभूषण शरण सिंह पर कई तरह के आरोप लगाए थे।

महावीर फोगाट ने बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान से भी पहलवानों का समर्थन करने की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा था, ‘मुझे दूसरे किसी स्टार से उम्मीद नहीं है, लेकिन आमिर खान समर्थन में ट्वीट करते हैं तो हमें अच्छा लगेगा।’इस बीच, धरना दे रहे पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की याचिका पर सुनवाई बंद करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को किसी तरह का झटका मानने से इंकार कर दिया। पहलवानों ने कहा कि वे अपना विरोध जारी रखेंगे।

रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक ने कहा, ‘हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं। हमारा विरोध जारी रहेगा। उच्चतम न्यायालय का आदेश झटका नहीं है। इस मामले में न्यायालय जो कर सकता था, उसने वह किया।’पहलवान बृजभूषण की गिरफ्तारी की मांग को लेकर 23 अप्रैल से धरने पर बैठे हैं। पहलवानों का आरोप है कि रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूएफआई) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह ने एक नाबालिग समेत 7 महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न किया है।

 

About bheldn

Check Also

आखिरी गेंद पर बाउंड्री नहीं लगा पाए राशिद खान, दिल्ली ने रोमांचक मैच में GT को हराया

नई दिल्ली, सांस थामने वाले रोमांचक मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने गुजरात टाइटंस को आखिरी …