झारखंड: IAS छवि रंजन को ईडी ने किया गिरफ्तार, सेना की जमीन से जुड़ा है मामला

रांची

रांची में सेना की जमीन खरीद-बिक्री मामले में गड़बड़ी के आरोपी आईएएस छवि रंजन को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से गिरफ्तार कर लिया गया है। छवि रंजन की गिरफ्तारी रांची में अवैध रूप से जमीन की खरीद-बिक्री से जुड़े मामले में हुई है। आईएएस छवि रंजन अभी झारखंड में समाज कल्याण विभाग के निदेशक हैं। रांची का उपायुक्त रहने के दौरान जमीन घोटाले में संलिप्त रहने का आरोप उन पर लगा है। छवि रंजन की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही उनके अधिवक्ता उनसे मिलने ईडी ऑफिस पहुंचे। लेकिन उन्हें अभी छवि रंजन से मुलाकात की अनुमति नहीं मिली। जबकि देर रात छवि रंजन की पत्नी भी ईडी ऑफिस पहुंची। वहीं डॉक्टरों की एक टीम भी ईडी ऑफिस पहुंची हैं। डॉक्टरों की टीम ईडी ऑफिस के अंदर है। समझा रहा है कि रांची के पूर्व डीसी छवि रंजन का मेडिकल चेकअप कराया जा रहा है। संभवतः शुक्रवार को हिरासत में लेकर उन्हें ईडी की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा।

10 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ने छवि रंजन को किया गिरफ्तार
आईएएस छवि रंजन के अधिवक्ता कहा कि वे उनसे मिलने ईडी ऑफिस पहुंचे थे, लेकिन उन्हें छवि रंजन से मुलाकात की इजाजत नहीं दी गई। उनकी गिरफ्तारी के सवाल छवि रंजन के अधिवक्ता अधिवक्ता ने कहा कि इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। सूत्रों के मुताबिक, आईएएस छवि रंजन की ओर से जमीन घोटाले मामले में संतोषजनक जवाब नहीं दिए जाने के बाद ईडी ने उन्हें गिरफ्तार किया। वे सुबह ईडी ऑफिस पहुंचे थे, जिसके बाद गुरुवार को करीब 10 घंटे तक उनसे पूछताछ की गई।

गुरुवार को दूसरी बार ईडी ऑफिस पहुंचे थे छवि रंजन
सेना की जमीन समेत कई अन्य सरकारी और आदिवासी जमीन की गलत तरीके से खरीद-बिक्री मामले में ईडी की टीम ने छवि रंजन और अन्य आरोपियों के ठिकाने पर 13 अप्रैल को छापेमारी की थी। उस दौरान सरकारी कर्मचारियों समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया गया था। छापेमारी के दिन भी ईडी के अधिकारियों ने छवि रंजन से पूछताछ की थी। इसके बाद उन्हें 24 अप्रैल को ईडी ऑफिस बुलाया गया। गुरुवार को दूसरी बार छवि रंजन को ईडी ऑफिस बुलाया गया था।

About bheldn

Check Also

महाराष्ट्र: BJP ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट से हटाया एकनाथ शिंदे और अजित पवार का नाम

नई दिल्ली, भाजपा ने शुक्रवार को महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार …