डिब्रूगढ़ जेल में बंद खालिस्तानी नेता से मिलने पहुंची पत्नी, दूसरे आरोपियों के घर वाले भी साथ में आए

गुवाहाटी

कट्टरपंथी और ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार किए जाने के हफ्तों बाद खालिस्तानी नेता की पत्नी किरणदीप कौर ने गुरुवार को डिब्रूगढ़ जेल में उससे मुलाकात की। अमृतपाल की पत्नी के अलावा ‘वारिस पंजाब दे’ के अन्य कार्यकर्ताओं के परिवार के सदस्यों ने भी डिब्रूगढ़ केंद्रीय कारागार में कैदियों से मुलाकात की।

दो घंटे 25 मिनट तक हुई मुलाकात
एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि एक और आरोपी दलजीत सिंह कलसी की पत्नी नीरू कलसी और उनका बेटा सिमरनजीत कलसी भी आज डिब्रूगढ़ केंद्रीय कारागार पहुंचा। उन्होंने कहा, “वे दोपहर करीब एक बजे जेल परिसर में दाखिल हुए और 3 बजकर 25 मिनट पर बाहर निकले। वे विमान के जरिए आए थे और गुरुवार को डिब्रूगढ़ में ही ठहरेंगे।”

अमृतपाल को पंजाब पुलिस ने 23 अप्रैल को मोगा में गिरफ्तार किया था और बाद में उसको विशेष उड़ान से असम के डिब्रूगढ़ जेल में भेज दिया गया था। अमृतपाल सिंह सहित ‘वारिस पंजाब दे’ के 10 सदस्य वर्तमान में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत डिब्रूगढ़ जेल में बंद हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, पंजाब पुलिस और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के संयुक्त प्रयासों से गिरफ्तारी की गई है। इससे पहले, मार्च में, केंद्रीय खुफिया एजेंसियों द्वारा संभावित जेलब्रेक और अजनाला की घटना को दोहराने पर चिंता जताए जाने के बाद, अमृतपाल सिंह के खालिस्तान समर्थकों और सहयोगियों को पंजाब से बाहर भेज दिया गया था।

इससे पहले मार्च में फरार होने के बाद कट्टरपंथी नेता को “भगोड़ा” घोषित किया गया था। अमृतपाल के समर्थकों के 23 फरवरी को अमृतसर में अजनाला पुलिस स्टेशन पर धावा बोलने के लगभग तीन सप्ताह बाद यह कार्रवाई हुई है। पुलिस स्टेशन पर समर्थक उनके सहयोगी लवप्रीत तूफान की रिहाई की मांग कर रहे थे।

 

About bheldn

Check Also

नड्डा घूमते हैं नोटों भरा बैग लेकर, महिलाएं अब कैसे खरीदें सोना? तेजस्वी का पीएम मोदी-नड्डा पर डबल अटैक

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …