गलत बात, बिहारियों के बारे में नहीं बोलनी चाहिए, नीतीश ने दी गोवा के CM को नसीहत

पटना

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के बिहारी रिमार्क्स पर सधी प्रतिक्रिया दी। गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने कहा था कि 90 प्रतिशत अपराध के लिए जिम्मेवार यूपी-बिहार के प्रवासी मजदूर हैं। इसी पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना में प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि इस तरह की बातें नहीं बोलनी चाहिए। सोच-समझकर बयान देना चाहिए।

नीतीश कुमार ने क्या कह
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के बिहारी रिमार्क्स पर नीतीश कुमार ने कहा कि ‘बिहार के नेताओं का रिएक्शन आप जानते ही है। हम देख रहे हैं। उसके बाद वो (गोवा सीएम) क्या बोल रहे हैं। ये सब चीज बोला जाता है? नहीं बोलनी चाहिए। हम तो कोई खास इन सब चीजों पर नहीं बोलते हैं। वो क्या बोले और हमलोगों के सब नेता डिफ्रेंट पार्टी के लोग बोले। ये सब गलत बात है, बिहारियों के बारे में नहीं बोलना चाहिए।’

गोवा CM ने जताई खेद
पूरे मामले पर विवाद बढ़ता देख गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने सफाई भी दी। उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़-मड़ोकर पेश किया गया। उनका भाषण कोंकणी भाषा में था और कुछ नेताओं ने मेरे भाषण को ट्विस्ट कर दिया। वहां के मजदूर को अगर दुख पहुंचा हो तो खेद व्यक्त करता हूं। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बुधवार को कहा कि राज्य में अपराध के लिए प्रवासी श्रमिकों को जिम्मेदार ठहराने संबंधी उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है। अगर उनके बयान से किसी राज्य या किसी राज्य के श्रमिकों को ठेस पहुंची है, तो वो इसके लिए खेद प्रकट करते हैं।

प्रमोद सावंत पर याचिका दायर
पूरे मामले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) के स्थानीय नेता मनीष कुमार सिंह ने पटना के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में प्रवासी श्रमिकों संबंधी बयान को लेकर सावंत के खिलाफ याचिका दायर की है। मनीष सिंह ने मजदूर दिवस पर गोवा में एक भाषण के दौरान की गई सावंत की उस टिप्पणी पर आपत्ति जताई है, जिसमें सावंत ने तटीय राज्य में ’90 प्रतिशत अपराधों’ के लिए बिहार और उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को दोषी ठहराया था। सावंत ने कहा था कि ‘मैंने एक मई को मजदूर दिवस समारोह के दौरान कोंकणी में बात की थी। हमने इस अवसर पर सभी राज्यों के श्रमिकों को सम्मानित किया था। मेरा भाषण, जो कोंकणी में था, उसे कुछ नेताओं ने तोड़-मरोड़ कर पेश किया।’

About bheldn

Check Also

कांवड़ यात्रा: मजहब देख कर सामान खरीदने की वकालत करने वालों को हरिद्वार से आया यह वीडियो जरूर देखना चाहिए

हरिद्वार, कांवड़ यात्रा के रूट पर पड़ने वाले दुकानदारों को अपनी नेमप्लेट लगाने के यूपी …