एक बोरा पैसों में एक थैली सामान! देखिए दुनियाभर के देशों में महंगाई का आंकड़ा

नई दिल्ली

भारत में पिछले साल 12 में से 11 महीने महंगाई की दर छह फीसदी से ऊपर रही। यह आरबीआई (RBI) के संतोषजनक स्तर (दो से छह फीसदी) से ऊपर है। इसे थामने के लिए सरकार और आरबीआई ने कई कदम उठाए हैं। इनकी बदौलत मार्च में देश में महंगाई की दर 5.66 फीसदी रही। दुनिया के कई देशों में महंगाई चरम पर है। World of Statistics के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई दक्षिण अमेरिकी देश अर्जेंटीना में है। वहां महंगाई की दर 104 फीसदी है। यह भारत की तुलना में करीब 20 गुना ज्यादा है। जहां तक सबसे कम महंगाई दर की बात है तो चीन में यह महज 0.7 फीसदी है। दुनिया के कई देशों में भारत से ज्यादा महंगाई है। वहीं कई देशों में महंगाई की दर भारत से कम है। कोरोना महामारी के दौर में दुनियाभर में महंगाई में काफी तेजी आई है। हालांकि अच्छी बात यह है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोरोना अब वैश्विक महामारी नहीं रह गई है।

World of Statistics के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई वाले देशों की लिस्ट में तुर्की दूसरे स्थान पर है। वहां इनफ्लेशन रेट 43.68 फीसदी है। पाकिस्तान में अप्रैल में महंगाई 36.4 फीसदी पहुंच गई जो 1964 के बाद सबसे अधिक है। दूसरी ओर श्रीलंका में मुद्रास्फीति की दर अप्रैल में घट कर 35.3 फीसदी रह गई। कई तरह की आर्थिक दिक्कतों से जूझ रहे ब्रिटेन में महंगाई की दर 10.1 फीसदी है। इसी तरह इटली में महंगाई दर 8.3 फीसदी, जर्मनी में 7.2 फीसदी, साउथ अफ्रीका में 7.1 फीसदी, ऑस्ट्रेलिया में सात फीसदी, मेक्सिको में 6.85 फीसदी और फ्रांस में 5.9 फीसदी हैं। ये वे देश हैं जहां महंगाई भारत से ज्यादा है।

इन देशों में है भारत से कम महंगाई
अब जरा उन देशों की बात कर ली जाए जहां भारत से कम महंगाई है। नीदरलैंड्स में महंगाई दर 5.2 फीसदी, अमेरिका में पांच फीसदी, ब्राजील में 4.65 फीसदी, इंडोनेशिया में 4.33 फीसदी, कनाडा में 4.3 फीसदी, स्पेन में 4.1 फीसदी, साउथ कोरिया में 3.7 फीसदी, रूस में 3.5 फीसदी, जापान में 3.2 फीसदी, सऊदी अरब में 2.7 फीसदी और स्विट्जरलैंड में 2.6 फीसदी है। सबसे कम महंगाई चीन में है। वहां महंगाई की दर महज 0.7 फीसदी है। अगर ब्रिक्स देशों की बात की जाए तो दक्षिण अफ्रीका के बाद सबसे ज्यादा महंगाई भारत में है।

About bheldn

Check Also

“हम सब मरने वाले हैं…” अचानक इस भारतीय अरबपति ने क्‍यों कहा ऐसा?

नई दिल्‍ली , हम सभी मरने वाले हैं, इसलिए जिंदगी को बहुत ज्‍यादा सीरियस लेने …