राहुल गांधी-येचुरी की गुजारिश, समर्थकों का प्यार… शरद पवार ने बताई इस्तीफा वापसी की वजह

मुंबई

शरद पवार ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया है. वह एनसीपी के अध्यक्ष बने रहेंगे. कई दिनों चली गहमागमही के बाद शरद पवार मान गए और उन्होंने शुक्रवार शाम को एक प्रेस कांफ्रेंस करते हुए अपना इस्तीफा वापस लेने की घोषणा कर दी. इस दौरान पवार ने कहा कि वह अपने कार्यकर्ताओं का अनादर नहीं कर सकते, इसलिए अपना फैसला वापस ले रहे हैं.

दरअसल, शरद पवार ने 2 मई को अपनी आत्मकथा के विमोचन के समय एनसीपी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की घोषणा की थी. इसको लेकर पार्टी कार्यकर्ता और नेता हैरान थे. कार्यकर्ता इस्तीफे के खिलाफ थे और पवार से पद पर बने रहने की मांग कर रहे थे. इस बीच अध्यक्ष पद के लिए अजित पवार और सुप्रिया सुले के नाम को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म था. लेकिन पार्टी की कोर कमेटी ने शरद पवार का इस्तीफा नमंजूर कर दिया और इसके बाद शरद पवार ने फैसला वापस लेने की घोषणा कर दी.

शरद पवार ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अपना इस्तीफा वापस लेने के पीछे के कारणों का बताया. उन्होंने राहुल गांधी और सीताराम येचुरी का भी जिक्र किया और बताया कि इनके अलावा कई अन्य नेताओं ने कहा था कि विपक्ष को एकजुट करने में उनकी भूमिका अहम होगी. साथ ही उन्होंने पार्टी कोर कमेटी और कार्यकर्ताओं का अनादर नहीं करने की बात कही और इस्तीफा वापस ले लिया.

इस दौरान शरद पवार ने कहा कि 2 मई, 2023 को मैंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की घोषणा की थी. मेरा फैसला सुनकर पार्टी कार्यकर्ता, पदाधिकारी और मेरे सहयोगी मायूस हो गए थे. मेरे सभी शुभचिंतकों ने एक स्वर से मुझसे अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की थी. उसी समय, विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, मेरे सहयोगियों और पूरे देश और विशेष रूप से महाराष्ट्र के शुभचिंतकों ने मुझे अपना निर्णय बदलने के लिए राजी किया.

पवार ने कहा कि सभी के द्वारा की गई अपील को ध्यान में रखते हुए एवं समिति के निर्णय का सम्मान करते हुए मैं पद छोड़ने का अपना निर्णय वापस ले रहा हूं. कार्यकर्ताओं का अनादर नहीं कर सकता हूं. राहुल गांधी, सीताराम येचुरी और अन्य कई ने कहा कि विपक्ष की एकजुटता के लिए मेरी मौजूदगी जरूरी है.

अजित पवार पर कही ये बात
अजित पवार के प्रेस कांफ्रेस में नहीं होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पीसी में हर कोई नहीं आता है. पार्टी के सभी सीनियर नेता अजीत पवार सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता प्रस्ताव पारित करने में शामिल थे. सुप्रिया सुले को कार्यकारी अध्यक्ष बनाने पर उन्होंने कहा कि ऐसा सुझाव दिया गया था लेकिन सुप्रिया सुले भी इसके खिलाफ थीं तो प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया.

अजित पवार पर जयंत पाटिल ने कही ये बात
प्रेस कांफ्रेंस में अजित पवार की अनुपस्थिति पर पार्टी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि अजित पवार उनसे (शरद पवार) इस्तीफा वापस लेने का आग्रह करने के लिए वहां थे. जब हम पवार साहब के आवास पर गए तब भी वह (अजित) वहां थे. पार्टी कार्यालय में निर्णय लेने के बाद मुझे भी प्रेस कांफ्रेंस के बारे में पता नहीं था, मैं थोड़ी देर से पहुंचा. सभी को नहीं बताया गया.”

 

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …