उमेश पाल मर्डर केस में लपेटे में आया अतीक का वकील विजय मिश्रा, पुलिस कर सकती है गिरफ्तार!

प्रयागराज

अतीक अहमद, अशरफ और उनके परिजनों की कानूनी मदद करने वाले कोर्ट में इनके मामलों की पैरवी करने वाले वकील विजय मिश्रा पर 24 फरवरी को कचहरी से उमेशपाल के निकलने की सूचना नेट काल के जरिये अशरफ और असद को देने का आरोप लगा है। चौंकाने वाली बात यह है कि यह आरोप पुलिस बयान में अतीक अहमद के बेहद करीबी वकील खान सौलत हनीफ ने लगाया है।भविष्य में अतीक अहमद व उनके परिजनों, करीबियों को कानूनी मदद के लिए, कोर्ट में लगे मामलों की पैरवी के लिए वकील भी मिलना मुश्किल हो जाये।

घर से हुई थी आईफोन और ऑटोमैटिक पिस्टल की बरामदगी
जब 3 अप्रैल बुधवार को अतीक अहमद के बेहद करीब वकील खान सौलत हनीफ को 12 घण्टे की कस्टडी रिमांड पर धूमनगंज पुलिस सेंट्रल जेल से लेकर उनके प्रीतम नगर आवास पर पहुंची थी तो वकील खान सौलत हनीफ की निशानदेही पर उनके बेडरूम से 3 मोबाइल फोन और 9 mm की 1 पिस्टल बरामद किया था। उस वक्त वकील विजय मिश्रा कोर्ट के आदेशानुसार 10 मीटर दूरी पर मौजूद रहे थे।

क्या है खान सौलत हनीफ का बयान
अभियुक्त खान सौलत हनीफ ने उमेश पाल के हत्या के संबंध में पूछताछ के दौरान बताया कि उमेश पाल हत्या से संबंधित अभियुक्त असद पुत्र अतीक अहमद द्वारा मुझे एक अदद एप्पल कंपनी का आईफोन व अदद 9 एमएम की पिस्टल व कारतूस दिए गए थे। असद द्वारा दिए गए आईफोन से मैं फेसटाइम की माध्यम से असद,अतीक,अशरफ शाइस्ता परवीन व अन्य अतीक के सहयोगियों से बात करता था। तथा इसी फोन में मेरे द्वारा घटना के दिन दिनांक 24.02. 2023 को उमेश पाल के कचहरी से निकलने की सूचना अतीक व असद को दी गई थी। तथा विजय मिश्र ने भी मेरे सामने अशरफ,असद को उमेश पाल के कचहरी से निकलने के बारे में अपने मोबाइल से नेट कॉल से सूचना दी थी।

उमेशपाल किडनैपिंग में हुई है आजीवन कारावास
पेशे से वकील खान सौलत हनीफ माफिया अतीक अहमद के बेहद करीबी वकीलों में से थे। उमेश पाल किडनैपिंग केस में अतीक अहमद ,दिनेश पासी व वकील खान सौलत हनीफ को 28 मार्च 2023 को सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। तभी से वह सेंट्रल जेल नैनी में बन्द हैं।

14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा
पुलिस ने सीजेएम कोर्ट से उमेश पाल हत्याकांड मामले में खान सौलत हनीफ से पूछताछ के लिए 14 दिनों की पुलिस रिमांड की मांग किया थी। जिस पर सीजेएम कोर्ट ने खान सौलत हनीफ को कोर्ट को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा का आदेश दिया था। 10 मई को न्यायिक अभिरक्षा पूरी होगी।

असद के मोबाइल पर भेजी थी उमेशपाल की फ़ोटो
उमेश पाल हत्याकांड में विवेचक को असद के मोबाइल पर वकील खान सौलत हनीफ द्वारा उमेश पाल की फ़ोटो भेजने का सबूत मिला था। वही फ़ोटो असद ने अन्य शूटरों को भेजी थी। अब कस्टडी रिमांड के दौरान खान सौलत हनीफ की निशानदेही पर प्रीतम नगर स्थित उनके आवास से एक आईफोन दो अन्य मोबाइल व एक 9mm ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद की गई है। आगे की जांच जारी है।

About bheldn

Check Also

BPSC पेपर लीक मामले में एक महिला समेत 5 गिरफ्तार, आरोपी उज्जैन से लाए गए पटना

पटना, बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) द्वारा ली गई शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले …