‘भारतीय लोकतंत्र ऐसे स्तर पर काम कर रहा, जिसकी कल्पना…’, ब्रिटेन में बोले उपराष्ट्रपति धनखड़

नई दिल्ली

भारत के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ किंग चार्ल्स के राज्याभिषेक में भाग लेने के लिए ब्रिटेन के दौरे पर हैं। शनिवार को भारतीय प्रवासी समुदाय को संबोधित करते हुए जगदीप धनखड़ ने कहा, ‘भारतीय लोकतंत्र एक ऐसे स्तर पर काम कर रहा है जिसकी तुलना नहीं कि जा सकती।’ जगदीप धनखड़ ने कहा, ‘हमारे संस्थान पूरी तरह से स्वतंत्र है। भारत का चुनाव आयोग शेष दुनिया के लिए एक लाइट हाउस है कि कम से कम समय में निष्पक्ष और कुशलता से चुनाव कैसे कराया जा सकते हैं। भारत में कानून के प्रति जवाबदेही हैं भले आप कोई भी व्यक्ति हों। कोई भी कानून की पहुंच से बाहर नहीं है और न ही किसी के साथ गलत व्यवहार किया जा सकता है।’

भारत को अपने डायस्पोरा पर गर्व है: जगदीप धनखड़
धनखड़ ने भारत-ब्रिटेन संबंधों को मजबूती देने के लिए भारतीय प्रवासी समुदाय की तारीफ की। उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत को अपने डायस्पोरा पर गर्व है। वे भारत के 24X7 एंबेसडर हैं, यहां 1.7 मिलियन और पूरी दुनिया में 32 मिलियन भारतीय रहते हैं। उन्हें उदाहरण के लिए पूरक बनाया जा सकता है और उदाहरण के तौर पर मान सकते हैं कि वे अपनी कर्मभूमि और जन्मभूमि के लिए भी पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।

पीएम मोदी ने हर आदमी को सशक्त बनाया: उपारष्ट्रपति
उपराष्ट्रपति ने आगे कहा, ‘अगर भारत के तीनों अंग विधायिका, न्यायपालिका और कार्यपालिका को देखें तो आप पाएंगे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कार्यपालिका सभी सामाजिक मापदंडों को लेकर मानवीय हितों को लेकर काम कर रही है। धनखड़ ने कहा कि मोदी सरकार ने जनता की दिक्कतों को कम करने का काम किया। देश के हर एक आदमी को सशक्त बनाया। उन्होंने कहा कि देश में उस बुनियादी ढांचे का विकास कभी नहीं हुआ जो आज पीएम मोदी के कार्यकाल में हो रहा है। फिर चाहे में वो रेल, सड़क या तकनीकी कनेक्टिविटी की ही बात क्यों न हो।

उन्होंने कहा कि 2022 में भारत में डिजिटल पेमेंट ट्रांजेक्शन की राशि 1.5 ट्रिलियन थी। भारत में 700 मिलियन इंटरनेट यूजर्स हैं और उन्होंने जोर देकर कहा कि उन्होंने भारत की सर्विस डिलीवरी सिस्टम को एक ऐसे स्तर पर बदल दिया है जिसकी पहले कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। उन्होंने कहा कि 110,000,000 किसानों को साल में तीन बार अब तक दो लाख 20,000 करोड़ के बराबर राशि सीधे उनके खाते में और बिना किसी बिचौलिए के मिल रही है।

 

About bheldn

Check Also

म्यांमार में बिगड़ते हालात, विदेश मंत्रालय ने भारतीय दूतावास के कर्मचारियों को कहां किया शिफ्ट?

नई दिल्ली: सेना की ओर से तख्तापलट कर सत्ता पर कब्जा होने के बाद से …