बिहारः बागेश्वर धाम के बाबा धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के पटना आगमन को लेकर सत्ता पक्ष के नेताओं का हल्ला बोल

पटना

बागेश्वर धाम के बाबा धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री 13 मई को पटना आ रहे हैं। पटना जिले के ही नौबतपुर में 17 मई तक उनका प्रवचन कार्यक्रम रखा गया है। आयोजकों ने शास्त्री का कार्यक्रम गांधी मैदान में आयोजित करना चाहा था, लेकिन सरकार ने इजाजत नहीं दी। कार्यक्रम को लेकर समर्थन और विरोध की बिहार में जंग छिड़ गई है। बीजेपी और उसके सहयोगी दल तो बाबा के समर्थन में पहले से ही हैं, इसलिए कि शास्त्री कट्टर हिन्दुत्व की बात कहते हैं। भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने का उनका सपना है। यह बात भाजपा और उसके सहयोगी दलों को भाती है। सत्ता पक्ष इसे बिहार के मिजाज के प्रतिकूल मान रहा है। आरजेडी के नेता और मंत्री लालू यादव के लाल तेज प्रताप यादव ने तो शास्त्री के खिलाफ मोर्चा ही खोल दिया है। हालांकि आरजेडी के कई नेता यह भी कहते हैं कि शास्त्री ही क्यों, कोई भी बिहार आ सकता है और कहीं जा सकता है।

मंत्री तेज प्रताप ने तो ब्रिगेड ही बना ली है
धीरेंद्र शास्त्री हिन्दू-मुसलमान के बीच भेद की बात न करें, इसकी निगरानी के लिए लालू के बड़े बेटे और बिहार के मंत्री तेज प्रताप यादव ने अपने समर्थकों की एक ब्रिगेड ही बना ली है। उनको बाजाप्ता ट्रेनिंग दी जा रही है। परेड कराई जा रही है। कमांडर का हुक्म है कि एयरपोर्ट से नौबतपुर तक ब्रिगेड के जवान तैनात रहेंगे। धीरेंद्र शास्त्री के बयान और उनकी एक्टिविटी पर चौकस नजर रखेंगे। अगर वह कुछ गड़बड़ बात बोलते हैं तो उनके साथ क्या सलूक करना है, इसे अभी तक कमांडर ने गोपनीय रखा है। संभव है कि अंतिम वक्त में उन्हें इसका निर्देश मिले। ब्रिगेड परेड की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिसमें लाठी लिये युवा कतारबद्ध खड़े दिखते हैं। तेज प्रताप उन्हें निर्देश देते दिखाई देते हैं।

आरजेडी कोटे के मंत्री सुरेंद्र यादव के बिगड़े बोल
आरजेडी कोटे के एक दबंग मंत्री हैं सुरेंद्र यादव। उनका कहना है कि धीरेंद्र शास्त्री तो भूत-प्रेत भगाते हैं। औरतें उनके पास भूत-प्रेत भगाने के लिए जाती हैं। औरतों-लड़कियों के कपड़े तक नाचते-झूमते खुल जाते हैं। भूत भगाने के नाम पर मां-बहन-बेटियों को वे नचाते हैं। धीरेंद्र शास्त्री के विरोध का यह उनका नायाब तरीका है। हमेशा अपने बेढंगे बयानों से चर्चा में रहने वाले शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने भी अपने अंदाज में धीरेंद्र शास्त्री का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि प्रजातंत्र में किसी को भी कहीं आने-जाने पर रोक नहीं है, लेकिन छद्म हिन्दुत्व और राष्ट्रवाद की आड़ में बिहार में कोई गड़बड़ करना चाहे, वह बरदाश्त से बाहर की बात होगी। चंद्रशेखर ने तो धीरेंद्र शास्त्री को कड़ी चेतावनी देते हुए जेल भेजने तक की धमकी दे डाली है। उन्होंने कहा है कि बिहार में लालकृष्ण आडवाणी जैसा हस्र ने हो जाए धीरेंद्र शास्तीर का तो कोई आश्चर्य नहीं। आरजेडी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा है कि जिसे मन करता है, वह बाबा बन जाता है। ऐसे लोगों को तो जेल में होना चाहिए। मुझे इसका अफसोस है कि धीरेंद्र शास्त्री जैसे लोग अभी तक जेल से बाहर हैं। बिहार सरकार के ही एक मंत्री है अशोक चौधरी। उन्होंने कहा है कि आशाराम का ही हाल शास्त्री का भी होगा।

शास्त्री पर टिप्पणी कर फंस गए जगदानंद सिंह
बागेश्वर धाम के बाबा धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर टिप्पणी करना जगदानंद सिंह को महंगा पड़ गया। उनके खिलाफ मुजफ्फरपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) के यहां एक परिवाद भाजपा विधि प्रकोष्ठ के जिला संयोजक अनिल कुमार सिंह ने दाखिल कराया है। परिवाद में कहा गया है सनातन धर्म के प्रचारक धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर जगदानंद सिंह ने अमर्यादित और अपमानजनक टिप्पणी की है। परिवाद में जन अधिकार पार्टी (जाप) नेता पप्पू यादव को भी पार्टी बनाया गया है। पप्पू यादव ने कहा था कि इतने ही प्रभावशाली हैं तो शास्त्री को चाइना बार्डर पर भेज देना चाहिए। मामले में 16 मई को सुनवाई होनी है। दोनों नेताओं के खिलाफ दायर परिवाद में भारतीय दंड विधान (आईपीसी) की धारा 295 (ए), 153, 153 (ए), 505 और 34 लगाई गई है।

About bheldn

Check Also

BPSC पेपर लीक मामले में एक महिला समेत 5 गिरफ्तार, आरोपी उज्जैन से लाए गए पटना

पटना, बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) द्वारा ली गई शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले …