‘कर्नाटक के लिए संप्रुभता चाहती है कांग्रेस’, बीजेपी बोली- बजरंगबली के बाद अलगाववादी एजेंडे पर उतर आई कांग्रेस

नई दिल्ली

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव का प्रचार अंतिम दौर मे हैं। इस बीच कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग और तेज हो गई है। दोनों पार्टियां एक दूसरे पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। इसी कड़ी में बीजेपी ने कांग्रेस और सोनिया गांधी पर बड़ा हमला किया है। बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस टुकड़े-टुकड़े और अलगाववादी मानसिकता के साथ कर्नाटक में चुनाव प्रचार कर रही है। बीजेपी प्रवक्ता शाहजाद पूनावाला ने कहा कि कांग्रेस कर्नाटक के लिए संप्रभुता चाहती है। जबकि भारत एक संप्रभु राष्ट्र है और कर्नाटक की संप्रभुता का अलग से जिक्र करने क्या मतलब है। पूनावाला ने कहा,’कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से सोनिया गांधी का अधिकारिक बयान डालते हुए कांग्रेस ने कहा है कि कांग्रेस किसी को भी कर्नाटक की प्रतिष्ठा, संप्रभुता या अखंडता के लिए खतरा पैदा करने की अनुमति नहीं देगा।’ पूनावाला ने कहा, इस बयान से साफ है कि कांग्रेस की मंशा देश में फूट डालो और राज करो की है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पहले SDPI से गठजोड़ चाहती है, फिर ये बजरंगबली पर हमला करते हैं और धार्मिक आरक्षण के साथ-साथ धर्म के नाम पर विभाजित होते हैं। अब वे अलगाववादी एजेंडा चला रहे हैं जो काफी चौंकाने वाला है।

प्रचार के लिए हुबली पहुंची थीं सोनिया गांधी
इससे पहले कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी कर्नाटक के हुबली राज्य में जनसभा को संबोधित करने पहुंची थीं। इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, ‘कर्नाटक के लोग कड़ी मेहनत करके अपना जीवन जी रहे हैं और उन्हें किसी के आशीर्वाद की जरूरत नहीं है।उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बयान का जवाब देते हुए कहा कि अगर बीजेपी दोबारा सत्ता में नहीं आती है तो राज्य को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद नहीं मिलेगा। सोनिया गांधी ने कहा कि बीजेपी उनके बेटे और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को मिली कामयाबी से चिंतित और परेशान है, क्योंकि यह यात्रा उन लोगों के खिलाफ थी, जो देश में नफरत फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी की लूट, झूठ, अहंकार और नफरत के माहौल को खत्म किए बिना कर्नाटक और यहां तक कि भारत भी प्रगति नहीं कर सकता, क्योंकि बीजेपी अहंकारी राजनीतिक दल में बदल चुकी है।

‘कांग्रेस कार्यकर्ताओं को डरा रही है बीजेपी’
कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को डराने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हाथ मरोड़ने की रणनीति काम नहीं करेगी। वह कांग्रेस नेताओं के खिलाफ राज्य में ईडी और आयकर के छापे का जिक्र कर रही थीं। कांग्रेस नेता ने यह भी याद किया कि वह 24 साल पहले बेल्लारी निर्वाचन क्षेत्र से जीती थीं और कर्नाटक के लोगों ने उनके साथ कैसा व्यवहार किया था। उन्होंने यह भी कहा कि कर्नाटक ने 1978 में चिकमंगलुरु से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को चुना था।

‘अंधेरे शासन के खिलाफ आवाज बुलंद करनी होगी’
सोनिया गांधी ने कहा कि कर्नाटक के लोग वे हैं जो गर्व के साथ जीते हैं और वे केंद्र और राज्य की सरकारों के भ्रष्टाचार को स्वीकार नहीं करेंगे।उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी सरकार के अंधेरे शासन के खिलाफ आवाज बुलंद करना लोगों की जिम्मेदारी है। सोनिया गांधी ने कहा कि 10 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी बौखला गई है और पार्टी राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ सभी तरह के हथकंडे और हर तरह का दमन कर रही है। सोनिया ने राज्य में भ्रष्टचार का जिक्र करते हुए सार्वजनिक कार्यो के लिए वसूले जा रहे 40 प्रतिशत कमीशन पर ठेकेदार संघ द्वारा प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र का भी अप्रत्यक्ष संदर्भ दिया। बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार भी सोनिया गांधी के साथ मंच पर मौजूद थे।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …