MP: मधुमक्खियों से बचने के लिए तीसरी मंजिल से कूदे युवक की मौत, पत्नी की डिलीवरी कराने आया था अस्पताल

खंडवा,

मध्य प्रदेश के खंडवा में सोमवार सुबह अस्पताल की तीसरी मंजिल पर सोए एक युवक पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया. वह हड़बड़ाकर तीसरी मंजिल से नीचे कूद गया. सिर में गंभीर चोट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई. जिला मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताते हुए जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही मधुमक्खी के छत्ते को हटाने की बात कही है.

इधर, मेडिकल कॉलेज के डीन ने रात की सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद मधुमक्खी के हमले की बात से साफ इन्कार किया है. रात में मृतक और परिजनों के बीच विवाद के विजुअल्स भी सामने आए हैं. इसके आधार पर इस मामले में आत्महत्या की आशंका व्यक्त की जा रही है. बहरहाल, पूरा मामला संदिग्ध बताया जा रहा है.

रविवार को पत्नी ने दिया बेटे को जन्म
जानकारी के मुताबिक, रामपुरा गांव का रहने वाला सचिन अपनी गर्भवती पत्नी की डिलीवरी के लिए जिला अस्पताल आया था. रविवार को उसकी पत्नी ने बेटे को जन्म दिया है. रात में युवक अस्पताल की तीसरी मंजिल के बरामदे में ही सोया हुआ था. इसी दौरान अचानक उसे किसी ने काट लिया.

बताया जा रहा है कि वह इसके बाद घबराकर उसने अचानक तीसरी मंजिल से नीचे छलांग लगा दी. युवक की मौत के लिए परिजन अस्पताल प्रबंधन को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि अस्पताल में मधुमक्खी के छत्ते को यदि समय पर हटा दिया जाता, तो यह हादसा नहीं होता.

इसे कह सकते हैं अनहोनी- चिकित्सा अधिकारी
वहीं, जिला मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. शरद हरणे ने बताया कि इसे अनहोनी कह सकते हैं. मधुमक्खी का छत्ता वहां था और यह बात युवक को पता कैसे नहीं चली? मधुमक्खियों ने क्यों अचानक हमला किया इस बारे में कहना मुश्किल है. इस संबंध में यही कहा जा सकता है कि अस्पताल प्रशासन ऐसे मधुमक्खी के छत्ते को साफ-सफाई सुनिश्चित करेगी. यह घटना क्यों हुई इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं.

यह मधुमक्खी के हमले का मामला नहीं है- डॉ. अनंत पंवार
मामले में सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. अनंत पंवार ने स्पष्ट कहा कि यह मधुमक्खी के हमले का मामला नहीं है. पारिवारिक विवाद के चलते यह घटना हुई है. उन्होंने बताया कि इस प्रकरण के लिए हमने एक जांच कमेटी बनाई है. वह जांच कर रही है और पुलिस भी जांच कर रही है. फिर भी हमने सीसीटीवी फुटेज देखे हैं.

उसमें मृतक को उसके परिजन और पांच छह लोग उसे पकड़ रहे हैं. मृतक पांच छह बार भागते हुए दिख रहा है. उसे परिजनो ने जबरदस्ती पकड़ रखा है. उसमें हाथापाई भी दिखाई दे रहा है. इसमें जांच के बाद ही मामला सामने आएगा. मगर, प्रथम दृष्टि में इसमें मधुमक्खी वाला मामला दिखाई नहीं दे रहा है क्योंकि बाकी लोग सोए हुए दिखाई दे रहे हैं. पोस्टमार्टम के बाद ही सभी तथ्य सामने आएंगे.

 

About bheldn

Check Also

गर्मी को लेकर क्यों बढ़ रही टेंशन? लोकसभा चुनाव में लू वाला कनेक्शन समझ लीजिए

नई दिल्ली 2024 लोकसभा चुनाव में एक फेज की वोटिंग 19 अप्रैल को संपन्न हो …