OMG! पति पर था देवरानी से अवैध संबंध का शक, पत्नी ने बच्चों सहित किया सुसाइड, पैसे और गहने भी जला डाले

बाड़मेर

सीमावर्ती बाड़मेर जिले से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक मां ने अपने दो मासूम बच्चों को टांके में डालकर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद अपने घर में रखे गहने और रुपयों को आग के हवाले करने के बाद खुद ने भी टांके में कूदकर जान दे दी। घटना की जानकारी मिलने के बाद सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची । मृतका के परिजनों के समक्ष तीनों ही शवों को बाहर निकलवाया गया। पुलिस के अनुसार मृतका की पहचान झीमों देवी के रूप में हुई है। महिला के बेटे की उम्र आठ और बेटी की ढाई साल थी। तीनों ही शव पुलिस ने बाड़मेर जिला मुख्यालय की हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाए है ।

मृतका को शक था कि उसके पति का देवरानी के साथ अवैध संबंध है। इसको लेकर पिछले पांच- 7 सालों से परिवार में विवाद चल रहा था । इसको लेकर मृतका के परिजनों ने कई बार सामाजिक स्तर पर समझाइश की कोशिश भी की, लेकिन परिवार में विवाद नहीं थमा। जिसके बदौलत विवाहिता ने इतना खौफनाक कदम उठाया ।

मरने से पहले महिला ने लगाया वॉट्सएप स्टेट्स
इस पूरे मामले में सदर SHO किशन सिंह चारण ने बताया कि गंगासरा गांव से घटना की जानकारी मिली थी। इसके बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। तीनों शवों को मृतका के परिजनों के समक्ष बाहर निकला गया। इसके बाद शव को कब्जे में लेकर बाड़मेर के राजकीय चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया गया। मृतक का झीमों देवी के भाई बाबूलाल ने लिखित में रिपोर्ट दी है।

उसने बताया है कि मृतका के पति और देवरानी की ओर से उसे लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था। इस प्रताड़ना की अंत करने के लिए मृतका ने पहले अपने सोशल मीडिया पर स्टेटस लगाएं कि ईश्वर मुझे इतना क्यों तंग किया जा रहा है। मैं अब इस प्रताड़ना को नहीं खेल पाऊंगी। मुझे माफ करना इस तरीके का स्टेटस लगाकर उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर दी। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …