IAS की तैयारी कर रहे लड़के ने लगाई फांसी, पालतू कुत्ते ने की शव उतारने की कोशिश

झांसी ,

झांसी में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की तैयारी कर रहे 23 साल के युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था. शहर से बाहर गए हुए पिता को इसकी जानकारी तब हुई, जब बेटे का फोन नहीं उठा और उन्होंने पड़ोसी को घर भेजा. दरअसल, पड़ोसी ने जब घर के अंदर झांका तब पता चला कि लड़के ने फांसी लगा ली. इस मामले में देखने को मिला कि अपने मालिक की मौत पर उनका पालतू कुत्ता परेशान था.

बेजुबान जानवर ने पहले अपने मालिक को फंदे से नीचे खींचने की खूब कोशिश की. लेकिन जब मालिक नीचे नहीं खिंचा तो कुत्ता थककर वहीं बैठ गया. सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंची. लेकिन कुत्ते ने किसी को अंदर नहीं घुसने दिया. पुलिस के एक दरोगा ने जब घर में घुसने की कोशिश की तो कुत्ते ने हमला कर उनको जख्मी कर दिया.

भोपाल गए हुए थे पिता
कोतवाली की पॉश कॉलोनी पंचवटी के नालंदा ओम गार्डन में रहने वाले आनंद अग्निहोत्री के इकलौते बेटे संभव अग्निहोत्री ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. संभव अग्निहोत्री सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहा था. परिजनों ने बताया कि मृतक संभव के पिता आनन्द अग्निहोत्री रेलवे डीआरएम ऑफिस झांसी में अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं. आनंद अग्निहोत्री की पत्नी कुछ दिनों से गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं. उसी सिलसिले में वह इलाज के लिए वह भोपाल (मध्य प्रदेश) गए हुए थे.

कॉल रिसीव नहीं होने पर…
घर पर आनंद अग्निहोत्री का बेटा संभव और उसका पालतू कुत्ता एलेक्स था. बीती शाम पिता ने संभव के मोबाइल फोन पर कई बार कॉल किए, लेकिन कॉल रिसीव ही नहीं हो रहा था. इस पर उन्होंने पड़ोसियों को फोन कर बेटे का हाल जानने के लिए कहा. जब पड़ोसी उनके घर पहुंचे तो घर के पोर्च में उनका पालतू कुत्ता बैठा हुआ था जो किसी को भी अंदर नहीं आने दे रहा था.

बदला हुआ था एलेक्स का व्यवहार
पड़ोसियों के मुताबिक, कुत्ता सभी को पहचानता था और उसका व्यवहार ऐसा कभी नहीं रहा. कुत्ते के बदले व्यवहार के कारण अनहोनी की आशंका के चलते पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जैसे ही गेट से अंदर प्रवेश किया तो कुत्ते ने उन पर हमला बोल दिया, जिससे दरोगा घायल हो गया.

…और एलेक्स भी नहीं बचा
पड़ोसियों की मानें तो लगभग 4 घंटे तक कुत्ते एलेक्स ने किसी को भी घर के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया. तब पुलिस ने नगर निगम की टीम को बुलाया, जिसने बड़ी मशक्कत के बाद एलेक्स को पहले तो जाल डालकर अपने कब्जे में लिया और फिर बेहोशी का इंजेक्शन लगा दिया. जिसके बाद एलेक्स की भी मौत हो गई.

माता-पिता आ गए झांसी
पुलिस घर के अंदर दाखिल हुई तो वहां का नजारा देख सभी दंग रह गए. संभव का शव कमरे में पंखे से लटक रहा था. पुलिस ने पंचनामा भरकर शव का पोस्टमार्टम कराया. वहीं, देर रात युवक के माता-पिता झांसी आ गए थे.

 

About bheldn

Check Also

महाराष्ट्र: BJP ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट से हटाया एकनाथ शिंदे और अजित पवार का नाम

नई दिल्ली, भाजपा ने शुक्रवार को महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार …