इमरान खान की गिरफ्तारी पर आगबबूला हुए जज, कहा- ये मुझ पर और अदालत पर हमला

नई दिल्ली,

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को इस्लामाबाद हाई कोर्ट परिसर से रेंजर्स ने गिरफ्तार कर लिया गया है. इस्लामाबाद पुलिस ने कहा है कि इमरान खान की गिरफ्तारी अल-कादिर ट्रस्ट मामले में हुई है. खान अपने खिलाफ दर्ज कई मामलों में जमानत लेने पहुंचे थे और तभी उनकी गिरफ्तारी हुई. हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस आमेर फारूक ने मामले का संज्ञान लेते हुए इस्लामाबाद के पुलिस प्रमुख (IG) और गृह सचिव को 15 मिनट के भीतर तलब किया.

जज ने अतिरिक्त अटॉर्नी जनरल को भी 15 मिनट में अदालत के सामने पेश होने का निर्देश दिया गया. उन्होंने कहा कि वो इसे लेकर अभी संयम दिखा रहे हैं लेकिन अगर इस्लामाबाद पुलिस प्रमुख कोर्ट में पेश नहीं होते हैं तो वो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को समन करेंगे. उन्होंने आगे पूछा, ‘आप हमें बताएं कि गिरफ्तारी किस मामले में की गई है?’

इस्लामाबाद के महाधिवक्ता ने जस्टिस फारूक से अनुरोध किया कि अदालत इस मामले की सुनवाई को कल तक के लिए टाल दे. हालांकि, उन्होंने महाधिवक्ता के अनुरोध को मानने से इनकार कर दिया. चीफ जस्टिस ने कहा कि वो जानना चाहते हैं कि आज कोर्ट में क्या हुआ.

कोर्ट रूम में भड़के चीफ जस्टिस
इस्लामाबाद चीफ जस्टिस के समन के बाद इस्लामाबाद पुलिस प्रमुख, गृह सचिव और अतिरिक्त अटॉर्नी जनरल 15 मिनट के बजाए 45 मिनट के बाद कोर्ट में पहुंचे जिसके बाद चीफ जस्टिस भड़क गए.दोबारा सुनवाई शुरू होने के बाद चीफ जस्टिस ने गुस्से में कहा, ‘हमने आपको 15 मिनट के भीतर अदालत में पेश होने के लिए कहा था, लेकिन आप 45 मिनट के बाद आए.’

इस्लामाबाद के आईजी ने जवाब दिया कि उन्हें इमरान की गिरफ्तारी के बारे में मीडिया से पता चला था. उन्होंने अदालत में इमरान खान की गिरफ्तारी का वारंट पेश करते हुए जज से कहा, ‘उन्हें (इमरान खान को) भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया गया है.’इसके बाद जज ने कहा, ‘लेकिन जहां तक ​​मुझे पता है और अदालत के कर्मचारियों ने जो बताया, उसके मुताबिक, इमरान को एनएबी ने गिरफ्तार नहीं किया. अगर गिरफ्तारी कानून का उल्लंघन है तो मैं उचित आदेश जारी करूंगा.’

इसके बाद इमरान खान के वकील बैरिस्टर गौहर खान ने कहा कि जब रेंजर्स इमरान खान को ले गए तब वो उनके साथ ही थे.वकील ने कहा, ‘वे पीटीआई प्रमुख को बायोमेट्रिक रूम में घुसने से पहले ही गिरफ्तार करने की कोशिश कर रहे थे.’ उन्होंने कहा कि रेंजर्स ने इमरान को गिरफ्तार करने के लिए कमरे की खिड़कियों को तोड़ दिया और मिर्च स्प्रे का इस्तेमाल किया.

‘इमरान खान को रॉड से मारा’
गौहर ने अदालत को बताया, ‘उन्होंने इमरान खान साहब को रॉड से मारा. मैंने यह सब अपनी आंखों से देखा है. उन्होंने इमरान के घायल पैर पर भी हमला किया. उन्होंने न्यायिक स्वतंत्रता और मौलिक अधिकारों का उल्लंघन किया है.’वहीं, पीटीआई के वकील ख्वाजा हारिस ने कहा कि न्याय हर नागरिक का अधिकार है. उन्होंने कहा, ‘आज की गिरफ्तारी न्यायिक स्वतंत्रता पर हमले से कम नहीं है.’

हारिस ने आगे तर्क दिया कि जब जांच चल रही तो कानून एनएबी को इस बात का अधिकार नहीं देता को वो संबंधित व्यक्ति को गिरफ्तार करे.पीटीआई के एक अन्य वकील एडवोकेट अली बुखारी ने कहा, ‘इमरान खान अपना बायोमेट्रिक्स करवा रहे थे. मैं वहीं कमरे में था. रेंजर्स ने हमें दरवाजे खोलने के लिए कहा लेकिन पुलिस ने जब दरवाजा नहीं खोला तो रेंजर्स ने खिड़कियां तोड़ दी और कमरे में घुस गए. रेंजर्स ने कमरे में मौजूद सभी लोगों को प्रताड़ित किया.’

‘मेरे धैर्य की परीक्षा न लें’
सुनवाई के दौरान जस्टिस फारूक गुस्से में दिखाई दिए और उन्होंने कहा कि अदालत ने पूरे मामले पर संयम रखा है और उनके धैर्य की परीक्षा न ली जाए.कोर्ट परिसर में इमरान खान की गिरफ्तारी पर भड़कते हुए उन्होंने कहा, ‘क्या यह न्यायिक स्वतंत्रता पर हमला नहीं है? क्या यह गिरफ्तारी अवैध नहीं है? सब कुछ आपके सामने है… वकीलों पर हमला किया गया है….मेरी अदालत पर हमला किया गया है…. मुझ पर हमला किया गया है.’

उनके ऐसा कहने पर अतिरिक्त अटॉर्नी जनरल ने सवाल किया कि क्या हाई कोर्ट के पार्किंग और अन्य क्षेत्रों को कोर्ट रूम के समान माना जाना चाहिए? उनके ऐसा कहने पर कोर्ट रूम में मौजूद वकीलों ने ‘शर्म करो’ के नारे लगाए. वहीं, इमरान खान की गिरफ्तारी का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि रेंजर्स लगभग उन्हें धकेलते हुए गाड़ी की तरफ ले जा रहे हैं.

इमरान खान के वकील बैरिस्टर अली गोहर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि रेंजर्स ने गिरफ्तारी के वक्त इमरान खान को टॉर्चर किया.उन्होंने दावा किया, ‘इमरान खान के सिर में चोट लगी और उनका पैर जख्मी हो गया है.’

किस मामले में गिरफ्तार हुए इमरान खान
इस्लामाबाद पुलिस के मुताबिक, इमरान खान को अल कादिर ट्रस्ट मामले में गिरफ्तार किया गया है. इस्लामाबाद पुलिस ने आईजी अकबर नासिर खान के हवाले से एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया है कि इमरान खान पर आरोप है कि उन्होंने अपनी पत्नी के साथ मिलकर एक रियल एस्टेट फर्म से 50 अरब रुपये वैध करने के बदले में अरबों रुपये का लाभ कमाया.

पुलिस प्रमुख ने यह भी कहा कि इस्लामाबाद में स्थिति सामान्य है. शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है और इसका उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी.इमरान खान की पार्टी पीटीआई के नेता फवाद चौधरी ने एक ट्वीट कर रहा है कि इमरान खान की गिरफ्तारी के दौरान वकीलों और आम लोगों को टॉर्चर किया गया. उन्होंने लिखा कि अज्ञात लोग इमरान खान को किसी अज्ञात जगह ले गए हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग नवाज (PML-N) ने इमरान खान की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया दी है. पार्टी ने एक ट्वीट कर कहा है, ‘आखिरकार वो वहां पहुंच गए जहां उन्हें होना चाहिए था.’ पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने कहा है कि इमरान खान को राष्ट्रीय खजाने को नुकसान पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है और गिरफ्तारी के वक्त उनके साथ कोई जबरदस्ती नहीं की गई.

 

About bheldn

Check Also

राहुल और अखिलेश के साथ से यूपी में बनेगी बात, न्याय यात्रा में शामिल होने का मतलब समझिए

आगरा आखिर वो घड़ी आ ही गई, जिस घड़ी को सपा-कांग्रेस को बेसब्री से इंतजार …