रूस पर हमले की तैयारी कर रहे पश्चिमी देश, मातृभूमि की करेंगे रक्षा, विक्‍ट्री डे पर गरजे राष्‍ट्रपति पुतिन

मॉस्‍को

नौ मई को रूस की राजधानी मॉस्‍को में विक्‍ट्री डे परेड का आयोजन हुआ। रेड स्‍क्‍वॉयर पर आयोजित इस परेड में राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने पश्चिम देशों पर जमकर हमला बोला। पुतिन ने कहा कि दुनिया इस समय एक टर्निंग प्‍वाइंट से गुजर रही है। उन्‍होंने पश्चिमी देशों पर आरोप लगाया है कि उन्‍होंने रूस के खिलाफ एक जंग छेड़ रखी है। पुतिन का यह भाषण यूक्रेन के राष्‍ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्‍की के भाषण के बाद आया है। जेलेंस्‍की ने कसम खाई है कि जिस तरह से नाजीवाद का अंत हुआ है, उसी तरह से रूस को भी खत्‍म किया जाएगा।

रूस पर हमले की तैयारी
राष्‍ट्रपति पुतिन ने कहा कि पश्चिमी देश नाजीवाद के लिए एक रास्‍ता तैयार कर रहे हैं। पुतिन का कहना था कि पश्चिमी देश जो रूस पर एक नए हमले की तैयारी में हैं, वह द्वितीय विश्‍व युद्ध के नतीजों को इनकार करने में लगे हुए हैं। पुतिन ने इस दौरान मिलिट्री वेटरंस, ऑफिसर्स और बाकी नागरिकों को बधाई दी। इस बार यह 78वीं विक्‍ट्री डे परेड थी। रूस, हर साल नौ मई को विक्‍ट्री डे परेड का आयोजन द्वितीय युद्ध में मिली जीत के जश्‍न के तौर पर करता है। पुतिन ने कहा कि युद्ध भड़का कर उथल-पुथल करना और पारंपरिक मूल्‍यों को खत्‍म करना, पश्चिमी की आदत में शुमार रहा है। राष्‍ट्रपति पुतिन ने परेड में कहा कि पश्चिमी देश ऐसा करते हैं ताकि वह अपनी तानाशाही चला सके, लूट और हिंसा को अंजाम दे सकें।

मातृभूमि से बड़ा कुछ नहीं
पुतिन ने इस दौरान कहा, ‘रूस के नागरिकों, वेटरंस, सैनिकों और नौसैनिकों आपको 78वें विक्‍ट्री डे की बधाईं। मैं आप सभी को इस छुट्टी की बधाई देता हूं जो आज हमारे उन पूर्वजों की याद में है जिन्‍होंने अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया।’ उन्‍होंने मानवता की रक्षा की थी।’ इसके बाद पुतिन ने आगे कहा, ‘आज एक बार फिर मानवता और इंसानी सभ्‍यता खतरे में है। एक युद्ध को आगे बढ़ाया जा रहा है।’ पुतिन ने कहा कि रूस की सेनाओं ने डोनाबास क्षेत्र में अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवाद से सीमाओं की रक्षा की है। पुतिन ने कहा कि मातृभूमि के प्‍यार में जितनी ताकत है, दुनिया की कोई सेना उसकी बराबरी नहीं कर सकती है।

जेलेंस्‍की का खुला चैलेंज
इससे पहले सोमवार को यूक्रेन के राष्‍ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्‍की ने भी रूस को चुनौती दी है। उन्‍होंने कसम खाई है कि जिस तरह से नाजीवाद को हराया गया था उसी तरह से रूस को भी हार का मुंह देखना पड़ेगा। जेलेंस्‍की ने याद दिलाया कि कैसे द्वितीय विश्‍व युद्ध के समय नाजी सेना को बुरी तरह से पीटा गया था। यूरोप डे के मौके पर जेलेंस्‍‍की का बयान आया। पिछले दिनों यूक्रेन ने दावा किया है कि उसने रूस की सबसे खतरनाक किंझल मिसाइल को ढेर कर दिया है। इससे पहले रूस ने दावा किया था कि यूक्रेन ने ड्रोन से राष्‍ट्रपति पुतिन की हत्‍या की साजिश की थी।

About bheldn

Check Also

अबू धाबी में मंदिर बनवाया इसलिए अल्‍लाह का कहर टूटा… पाकिस्तानियों की नफरत फिर आई सामने

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के लोग दिन रात सिर्फ धर्म की बात करते हैं। दुनिया में कहीं …