टिल्लू ताजपुरिया गैंग के शार्प शूटर के भाई ने किया सुसाइड, खुद को गोली से उड़ाया

नई दिल्ली,

टिल्लू ताजपुरिया गैंग के शार्प शूटर अमित दबंग के सबसे छोटे भाई मोहित उर्फ बंटी ने सिर में गोली मारकर खुदकुशी कर ली है. पुलिस के मुताबिक, आत्महत्या की वजहों का अभी तक पता नहीं चल सका है. बंटी ने 9 एमएम की पिस्टल से घर के अंदर खुद को गोली से उड़ा दिया. मृतक का भाई अमित उर्फ दबंग जो टिल्लू ताजपुरिया का काफी करीबी था, वह 6 साल से जेल में बंद है. दंबग का एक भाई इसी साल जनवरी में जेल से छूटा था.

खुदकुशी करने वाले मोहित का कोई क्राइम रिकॉर्ड नहीं था और वह खेती का काम करता था. पुलिस इस बात की जांच में जुटी है कि आखिर मोहित के पास 9 MM की पिस्टल कहां से आई और उसने क्यों ऐसा कदम उठाया.

खुद को उड़ाया
रात 12 बजकर 50 मिनट पर एसआरएचसी अस्पताल नरेला से अलीपुर पुलिस थाने को सूचना मिली कि गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई है. सूचना मिलने पर थाना अलीपुर की पुलिस टीम अस्पताल पहुंची जहां मृतक की पहचान मोहित उर्फ बंटी पुत्र राम कुमार, निवासी- ग्राम ताजपुर कलां के रूप में हुई. 25 साल के मोहित ने खुद को गोली मार ली थी जिसके बाद उसे अस्पताल लाया गया था मृतक अपने माता-पिता, पत्नी और 2 बच्चों (3 साल का एक बेटा और 1.5 साल की एक बेटी) के साथ 3 मंजिला मकान में रहता था.

खेती करता था मृतक
खबर के मुताबिक, 11 मई को जब मोहित अपने परिवार के सदस्यों के साथ घर लौटा और उसने परिवार से 2-3 मिनट बात की और फिर दूसरी मंजिल पर स्थित अपने कमरे में चला गया. अचानक गोली चलने की आवाज सुनाई दी और जब परिजन मृतक के कमरे में पहुंचे तो वह खून से लथपथ मृत अवस्था में पड़ा हुआ था. तुरंत ही उसे एसआरएचसी अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने से उसे मृत घोषित कर दिया.

क्राइम टीम ने कमरे का निरीक्षण किया गया और वहां से एक खाली कारतूस और जिंदा कारतूस के साथ एक 9 एमएम की पिस्तौल बरामद की. मृतक का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है और वह खेती का काम करता है. मृतक का सबसे बड़ा भाई अमित उर्फ दबंग उर्फ सोनू (उम्र 31) साल पिछले 6 साल से जेल में बंद है और टिल्लू गिरोह से जुड़ा हुआ है. मृतक का एक अन्य बड़ा भाई मोनू उम्र 27 वर्ष हाल ही में जनवरी माह में जेल से छूटा है.

जेल में हुई थी टिल्लू की हत्या
बता दें, गैंगस्टर टिल्लू को गोगी गैंग के गुर्गों ने तिहाड़ की हाई सिक्योरिटी सेल में चाकू से ताबड़तोड़ वार कर मौत के घाट उतारा था. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. जिसके बाद तिहाड़ जेल प्रशासन की जमकर किरकिरी हुई थी. अब इस मामले में तिहाड़ जेल के डीजी समेत 99 अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया गया है.

 

About bheldn

Check Also

बीजेपी के ‘संकटमोचक’ बने रामलला! कैसे कमजोर सपा विधायकों को साधने में की मदद

नई दिल्ली उत्तर प्रदेश में राज्‍यसभा की 10 सीटों के लिये मंगलवार को संपन्न हुए …