पायलट को संदेश ‘धैर्य रखो, जल्द कुछ अच्छा होगा’ सचिन को लेकर कांग्रेस आलाकमान का रुख हुआ नरम

जयपुर

कांग्रेस में गहलोत-पायलट के बीच चल रहे सियासी बवाल के बीच पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन जन संघर्ष यात्रा निकाल रहे हैं। इसे लेकर सचिन पायलट पर पार्टी आलाकमान का रुख अब नरम नजर आ रहा है। पायलट के बगावती तेवर को देखते हुए पार्टी आलाकमान एक बार फिर सेफ स्ट्रोक खेलते हुए दिखाई दे रहा है। इस दौरान आलाकमान के नेताओं की ओर से लगातार सचिन पायलट से संपर्क कर उनकी नाराजगी को दूर करने का प्रयास चल रहा है। वहीं आलाकमान ने पुराना राग अलापते हुए फिर से पायलट को धैर्य रखने की नसीहत दी है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष खरगे ने पायलट से संपर्क साधा
वसुंधरा सरकार के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार के मामलों की जांच को लेकर आंदोलन कर रहे सचिन पायलट से अब एक के बाद एक नेता संपर्क करने में जुटे हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक, बताया जा रहा है कि सचिन पायलट से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी संपर्क कर चुके हैं। वहीं अब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने भी पायलट से संपर्क किया है। माना जा रहा है कि आलाकमान के नेताओं की ओर से पायलट से संपर्क करना कोई बड़ा संकेत हो सकता है। उधर कर्नाटक चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस पार्टी काफी उत्साहित है। ऐसे में आलाकमान का पूरा फोकस राजस्थान के आगामी चुनाव पर हो गया है।

आलाकमान की नसीहत ‘धैर्य रखो, कुछ अच्छा होगा’
अपने बगावती तेवरों के जरिए सचिन पायलट ने कांग्रेस में खलबली मचा रखी है। उधर कांग्रेस आलाकमान भी पायलट को साधने की पूरी कोशिश में लगा हुआ है। दावा किया जा रहा है कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष के संपर्क करने के बाद पायलट को एक बार फिर धैर्य रखने की नसीहत दी गई है। साथ में यह भी कहा गया है, ‘आप धैर्य रखें, कुछ अच्छा होगा।’

इधर सचिन पायलट को लेकर राजस्थान प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा के भी तेवर अब बदले-बदले नजर आए हैं। उन्होंने एक बयान में कहा कि ‘मेरे पिता और सचिन पायलट के पिता बेस्ट फ्रेंड थे। दोनों ही परिवार के आज भी अच्छे रिश्ते हैं। मैं सचिन को अपने छोटे भाई की तरह मानता हूं। उन्हें अपने साथ लेकर चलने की कोशिश करूंगा।’ उन्होंने कहा कि मैं पायलट की शिकायतों को लेकर उनसे बात करूंगा। लेकिन इससे पहले क्या हुआ। इस पर बातचीत करना संभव नहीं है।

क्या पायलट फिर बन सकते हैं राजस्थान कांग्रेस के चीफ
कांग्रेस आलाकमान सचिन पायलट को राजी करने की लगातार कोशिश में लगा हुआ है। तभी तो आलाकमान ने पायलट को संकेत दिए कि कुछ अच्छा हो सकता है। इसको लेकर कयास लगाए जा रहे हैं कि पायलट को एक बार फिर राजस्थान कांग्रेस के चीफ की कमान सौंपी जा सकती है। इसको लेकर एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया है कि आलाकमान ने पायलट को संदेश भिजवाया है कि अगर वे चाहें तो, उन्हें राजस्थान कांग्रेस का चीफ बनाया जा सकता है। उनके साथ अब कुछ गलत नहीं होगा।

साथ ही पायलट को यह भी आश्वासन दिया गया है कि विधानसभा चुनाव में उनके समर्थक नेताओं को अच्छी संख्या में टिकट भी दिए जाएंगे। दावा किया जा रहा है कि आगामी दिनों में सचिन पायलट की कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ दिल्ली में मुलाकात हो सकती है। जहां पायलट की शिकायतों को सुनकर उनकी नाराजगी को दूर करने का पूरा प्रयास किया जाएगा।

About bheldn

Check Also

राम नवमी पर अयोध्या जाने वालों की आई आफत, 14 दिन के लिए नहीं करने दिए जाएंगे दर्शन, क्यों?

अयोध्या राम नवमी को बस अब कुछ ही दिन बाकी हैं, ऐसे में हर मंदिर …