बागेश्वर बाबा के ड्राइवर बने थे मनोज तिवारी, अब जुर्माना लगाएगी पटना ट्रैफिक पुलिस

पटना,

बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री इन दिनों पटना में हनुमंत कथा सुना रहे हैं. जब वह पहले दिन पटना आए थे तो बीजेपी के सीनियर नेता अश्विनी चौबे, गिरिराज सिंह और मनोज तिवारी समेत कई नेताओं ने उनका स्वागत किया था. इस बीच जानकारी मिली है कि बाबा ने पटना में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन किया है, जिसको लेकर ट्रैफिक पुलिस उनके खिलाफ जुर्माना लगाएगी.

पटना ट्रैफिक पुलिस के एसपी पूरन कुमार झा ने बताया कि उन्हें कुछ मीडिया कर्मियों के द्वारा सूचित किया गया है कि बागेश्वर बाबा ने पटना में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन किया है जिसको लेकर उन्होंने डीएसपी स्तर के अधिकारी को जांच के आदेश दिए हैं. आजतक से बातचीत के दौरान ट्रैफिक एसपी ने कहा कि डीएसपी की जांच में अगर कोई ऐसी बात सामने आती है तो कानून के मुताबिक एक्शन लिया जाएगा.

13 मई को की गई ट्रैफिक नियमों की अनदेखी
दरअसल, ट्रैफिक नियमों की अनदेखी का मामला 13 मई का बताया जा रहा है जब पंडित धर्मेंद्र शास्त्री पटना आए थे और फिर सांसद मनोज तिवारी ने गाड़ी चलाकर उन्हें होटल तक पहुंचाया था. आरोप लगाया जा रहा है कि उस दौरान मनोज तिवारी और पंडित धीरेंद्र शास्त्री जो आगे की सीट पर बैठे थे दोनों ने सीट बेल्ट नहीं लगाई हुई थी.

मनोज तिवारी ने क्या कहा?
इस दौरान बीजेपी सांसद और भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने कहा था- अतिथि देवो भव: बिहार की संस्कृति से निकला है, जोकि देश की संस्कृति है. सबसे खुशी की बात यह है कि बिहार के लोगों ने दिल खोलकर बाबा धीरेंद्र शास्त्री का स्वागत किया है.

तरेत मठ में हनुमंत कथा सुना रहे हैं धीरेंद्र शास्त्री
बता दें कि धीरेंद्र शास्त्री इन दिनों पटना के नौबतपुर स्थित तरेत मठ में हनुमंत कथा सुना रहे हैं. उनकी यह कथा 17 मई तक चलेगी. इसमें भारी भीड़ और भीषण गर्मी में लोगों की तबीयत बिगड़ने के बाद धीरेंद्र शास्त्री ने सोमवार को आयोजित होने वाले दिव्य दरबार को स्थगित कर दिया था. हालांकि धीरेंद्र शास्त्री ने बीते सोमवार को दिव्य दरबार लगाया था, जिसमें लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे.

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …