नियोजित शिक्षकों को नीतीश सरकार की चेतावनी, धरना-प्रदर्शन किए तो जाएगी नौकरी

पटना

बिहार सरकार ने नियोजित शिक्षकों को चेतावनी दी है। धमकी दी है कि अगर नियोजित शिक्षक किसी तरह के धरना-प्रदर्शन में भाग लेते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। दरअसल, बिहार के नियोजित शिक्षक नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। सरकार ने उनके आक्रोश को दबाने के लिए कार्रवाई का फरमान जारी किया है। इसको लेकर सरकार ने एक पत्र भी जारी किया है। मंगलवार को शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने एक पत्र जारी किया। यह पत्र उन्होंने सभी क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक और जिला शिक्षा पदाधिकारियों को भेजा है।

पत्र में क्या है
शिक्षा विभाग की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि समाचार पत्रों और सोशल मीडिया के माध्यम से यह समाचार प्रकाशित होते रहते हैं कि वर्तमान स्थानीय निकाय के शिक्षकों द्वारा नई नियुक्ति नियमावली के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। इस संबंध में सुनिश्चित करें कि यदि कोई भी स्थानीय निकाय के नियोजित शिक्षक अथवा अन्य कोई भी सरकारी कर्मी नियुक्ति नियमावली के विरोध में किसी भी प्रकार के धरना-प्रदर्शन या अन्य सरकार विरोधी कार्यक्रमों में भाग लेते हैं तो उनके विरूद्ध नियमानुकूल कार्रवाई अविलंब सुनिश्चित की जाए।

नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली का हो रहा विरोध
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कैबिनेट ने जब से नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली पर मुहर लगाई है, तब से ही नियोजित शिक्षकों का आंदोलन चल रहा है। माना जा रहा है कि सरकार के इस फरमान के बाद शिक्षक नियुक्ति नियमावली के विरुद्ध किसी प्रकार का कोई प्रदर्शन शिक्षक नहीं कर पाएंगे। अगर प्रदर्शन करते हैं तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई हो सकती है।

About bheldn

Check Also

नड्डा घूमते हैं नोटों भरा बैग लेकर, महिलाएं अब कैसे खरीदें सोना? तेजस्वी का पीएम मोदी-नड्डा पर डबल अटैक

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …