जांच कमेटी ने बृजभूषण को बता दिया पिता तुल्य, पीड़ितों से कहा- कोई फायदा नहीं, ट्रेनिंग पर जाओ

नई दिल्ली

बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ सात महिला पहलवानों ने यौन शोषण की एफआईआर दर्ज कराई है। मामले की जांच दिल्ली पुलिस कर रही है। इससे पहले यह जिम्मेदारी खेल मंत्रालय की बनाई गई ओवरसाइट कमेटी को दी गई थी। कमेटी के सामने बयान रखने वाली पहलवानों का कहना है कि उनपर जांच के दौरान दबाव डाला गया था। उनसे यह कहा गया कि उन्हें गलतफहमी हुई है।

ओवरसाइट कमेटी में शामिल हैं दिग्गज खिलाड़ी
ओवरसाइट कमेटी कि अध्यक्षता ओलंपिक मेडलिस्ट बॉक्सर एमसी मैरीकॉम कर रही थीं। उनके अलावा रेसलर बबीता फोगाट और योगेश्वर दत्त भी इस कमेटी का हिस्सा थे। पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी तृप्ति मुरगुंडे, टॉप्स के पूर्व सीईओ राजगोपालन और भारतीय खेल प्राधिकरण (साईं) की पूर्व कार्यकारी निदेशक (टीम) राधिका श्रीमन भी जांच कमेटी में शामिल थीं।

बृजभूषण को बताया पिता जैसा
इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में एक पहलवान ने बताया कि जांच के दौरान उन्हें कहा गया कि बृजभूषण शरण सिंह उनके पिता जैसे हैं। पहलवान ने कहा, ‘उन्होंने हमसे कहा कि बृजभूषण सिंह तो तुम्हारे पिता जैसें हैं, वह तो ऐसे ही चीजे कर रहे थे तुमने उसे यौन शोषण समझ लिया। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि हम बृजभूषण की छवि खराब कर रहे हैं। हमसे यह तक कहा गया कि इन सबका कोई फायदा नहीं है और हमें ट्रेनिंग पर लौट जाना चाहिए।’

पहलवानों को ओवरसाइट कमेटी पर नहीं भरोसा
जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवान भी यह कह चुके हैं कि उन्हें ओवरसाइट कमेटी पर भरोसा नहीं है और इसी वजह से वह फिर से धरने पर बैठे हैं। इस बार वह खेल मंत्रालय के आश्वासन की जगह कोर्ट पर भरोसा कर रहे हैं और कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। उनके सुप्रीम कोर्ट जाने के बाद ही दिल्ली पुलिस ने बृजभूषण के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। वहीं सभी सात शिकायतकर्ताओं का बयान भी दर्ज कराया गया।

 

About bheldn

Check Also

आखिरी गेंद पर बाउंड्री नहीं लगा पाए राशिद खान, दिल्ली ने रोमांचक मैच में GT को हराया

नई दिल्ली, सांस थामने वाले रोमांचक मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने गुजरात टाइटंस को आखिरी …