भारत विरोधी हैशटैग और प्रोपेगेंडा… श्रीनगर में G20 बैठक से पहले PAK की बड़ी साजिश

नई दिल्ली,

पाकिस्तान भले ही गृहयुद्ध जैसी स्थिति और महंगाई से जूझ रहा हो, लेकिन वह अब भी अपनी नापाक हरकतों के बाज नहीं आ रहा है. कारण, बर्बाद होते पाकिस्तान की उस साजिश का पर्दाफाश हुआ है, जो वह भारत के खिलाफ कर रहा है. गृहयुद्ध की आग में झुलसते पाकिस्तान ने इस साजिश को जी 20 की बैठकों में दुनिया के 20 देशों के सामने भारत की ताकत को और मजबूत होता देख भारत के विरोध में बनाया है.

दरअसल, भारत में अगले हफ्ते कश्मीर के श्रीनगर में जी-20 देशों की बड़ी बैठक होनी है. इसमें भारत दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं वाले देशों को कश्मीर में होता विकास दिखाएगा और घाटी के लोगों का अमन चैन दिखाएगा. इसी बात को पाकिस्तान पचा नहीं पा रहा है, इसलिए पड़ोसी मुल्क ने इंटरनेशनल साजिश रची है.

भारत श्रीनगर में 22 से 24 मई तक जी-20 देशों की पर्यटन पर होने वाली बैठक के लिए शानदार तैयारी कर चुका है. वहीं पाकिस्तान अलग-थलग पड़ा हुआ है. पड़ोसी मुल्क आर्थिक मंदी, गृहयुद्ध, सेना सियासत के संघर्ष और जनता के गुस्से से जूझ रहा है. बावजूद इसके पाकिस्तान अपने नापाक मंसूबों में जुटा हुआ है और श्रीनगर में जी-20 देशों की बैठक में गड़बड़ी फैलाने का प्लान तैयार किया है.

आजतक के पास खुफिया एजेंसियों के हवाले से पाकिस्तान के उस प्लान का पूरा कच्चा चिट्ठा है, जो बताता है कि पाकिस्तान ने दुनिया भर में अपने उच्चायोगों को ‘टूलकिट बम’ भेजकर भारत के श्रीनगर में होती जी-20 बैठक के खिलाफ अड़ंगा डालने में जुट चुका है.

अब कश्मीर में नहीं चल रही पाकिस्तान की चाल
याद करिए पहले पाकिस्तान क्या करता था. पहले पाकिस्तान आतंकी हमले कराता था. पहले पाकिस्तान पत्थरबाजी कराता था. पहले पाकिस्तान घाटी में भारत विरोधी जूलुस निकलवाता था. लेकिन आर्टिकल 370 की आजादी जम्मू कश्मीर को देने के बाद से अब पाकिस्तान की चालें भी कश्मीर में नहीं चलतीं. इसीलिए श्रीनगर में होने वाली जी-20 की बैठक से पहले पाकिस्तान दुनिया भर में एजेंडा चलाने की साजिश रह चरा है. पाकिस्तान ने पांच मोर्चे पर अपनी चाल बनाई है. आइए जानते हैं उनके बारे में-

पहली चाल: पाकिस्तान ने भारत छोड़ दुनिया के अपने सभी उच्चायोग में भारत के खिलाफ मुहिम चलाने वाली टूलकिट बनाकर भेजी है. मकसद है कश्मीर में जी-20 से पहले और बैठक के दौरान भारत विरोधी एजेंडा दुनिया में कई जगह एक साथ चलाया जा सके.

दूसरी चाल: भारत के कश्मीर में होती जी-20 के खिलाफ पाकिस्तान ने एजेंडा चलाने के लिए अलग-अलग थीम तक बनाई है. जैसे एक थीम है, भारत को हिंदूवादी बताकर अल्पसंख्यकों को खतरे में होने का झूठ फैलाना.

तीसरी चाल: माफिया अतीक अहमद तक के मारे जाने का प्रोपेगेंडा पाकिस्तान दुनिया में भारत के खिलाफ मुस्लिम विरोधी होने के तौर पर फैलाना चाहता है.

चौथी चाल: पहले से भारत विरोधी हैशटैग तय करके समय-समय पर सोशल मीडिया में ट्रेंड कराना.

पांचवीं और सबसे अहम चाल: फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए कश्मीर में जी-20 की बैठक के दौरान और उससे पहले भी भारत विरोधी संदेश पोस्ट कराना, प्रमोट करना.

ऑपरेशन 3T के जरिये तोड़ी जा रही है आतंकियों की कमर
G-20 बैठक से पहले जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन 3 टी के जरिए उनके नेटवर्क की कमर तोड़ी जा रही है. 20 दिन में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के 70 ऑपरेशन जिसमें एनआईए, एसआईए जम्मू कश्मीर पुलिस और अर्धसैनिक बल शामिल हैं. यह 3T प्लान टेररिस्ट ओवरग्राउंड वर्कर, टेरर फाइनेंसिंग और टेरर नार्को के खिलाफ चलाया गया संयुक्त अभियान है. 20 दिन और 70 ऑपरेशन पिछले कुछ दिनों में जी-20 बैठक से पहले आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे हैं. ऑपरेशन 3T का यह नतीजा है.

इस ऑपरेशन से आतंकवादियों को तिहरी मार दी जा रही है, जिस वजह से उनकी कई साजिश नाकाम हुई है. खुफिया एजेंसी सूत्रों के मुताबिक इस ऑपरेशन में हाल ही के दिनों में उपजे नए आतंकवादी संगठनों को खुफिया और सुरक्षाबलों ने अपना निशाना बनाया है. इन आतंकी गुटों में द रजिस्टेंस फ्रंट (TRF) यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट जम्मू एंड कश्मीर (ULJ&K,) मुजाहिदीन गजवत उल हिन्द (MGH), जम्मू कश्मीर फ्रीडम फाइटर (JKFF), कश्मीर टाइगर और पीपुल एंटी फासिस्ट फ्रंट प्रमुख (PAFF) हैं.

खुफिया एजेंसी सूत्रों के मुताबिक हाल ही में उभरे इन नए आतंकी संगठनों को छद्म नामों के जरिये कश्मीर में ऑपरेट कराया जा रहा है. इनके मूल आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद, लश्कर ए तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन, अल बद्र और अल कायदा के संबंध हैं.

About bheldn

Check Also

प्राइवेट प्रॉपर्टी पर हो सकता है किसी समुदाय या संगठन का हक, सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की बेंच ने क्या कहा?

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि संविधान का उद्देश्य सामाजिक बदलाव की भावना …