बागेश्वर बाबा को अब सूरत के हीरा व्यापारी का चैंलेज, चमत्कार दिखाएं और तो चरणों में रख दूंगा इतने हीरे

अहमदाबाद

बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर और बागेश्वर बाबा के नाम से सुर्खियों में छाए पंडित धीरेंद्र शास्त्री के गुजरात दौरे कई चैलेंज सामने आए हैं। राजकोट की एक बैंक के सीईओ और अहमदाबाद के डॉक्टर के चैलेंज के बाद सूरत के हीरा कारोबारी ने बाबा को चमत्कार दिखान की चुनौती है। सूरत के हीरा व्यापारी और अंधविश्वास विरोधी कार्यकर्ता जनक बाबरिया ने बाबा धीरेंद्र शास्त्री को खुली चुनौती दी है। चुनौती स्वीकार करने पर हीरा करोबारी ने करोड़ों के हीरे चरणों में रखने का भी ऐलान किया है।

…तो स्वीकार कर लूंगा दिव्य शक्ति
सूरत के हीरा व्यापारी जनक बाबरिया ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर धीरेंद्र शास्त्री को चैलेंज दिया है। उन्होंने कहा है कि मैं बाबा को चुनौती देता हूं कि वे मुझे मंच पर बुलाएं और 26-27 मई को होने वाले दरबार में चमत्कार दिखाएं। मैं मंच पर 500 से 700 कैरेट पॉलिश किए हुए हीरों का पैकेट लेकर जाऊंगा, यदि बाबा मुझे बताएं कि इसमें कितने हीरे के टुकड़े हैं, तो मैं बाबा की दिव्य शक्ति को स्वीकार कर लूंगा और पैकेट बाबा के चरणों में अर्पित कर दूंगा।”

टीम करेगी बाबा का विरोध
जनक बाबरिया ने बताया कि 26-27 मई को बागेश्वर धाम के धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री सूरत में दरबार लगाने जा रहे हैं। ईश्वरीय दरबार के अंदर चमत्कार, अंधविश्वास और दैवीय शक्तियों की बात करने वालों का हम खुलकर विरोध करते हैं। 26 और 27 तारीख को हम अपनी टीम के साथ इनका विरोध करने जा रहे हैं। हम सरकार को पत्र भी लिखने जा रहे हैं। हम इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं देने के लिए कलेक्टर को याचिका भी देने जा रहे हैं। हम अगले सोमवार को पूरे गुजरात में आवेदन पत्र जारी करने जा रहे हैं।

‘गुजरात में आए ऐसे कई बाबा’
गुजरात के लोग ऐसे अंधविश्वास और दैवीय चमत्कार को कभी स्वीकार नहीं करेंगे। ऐसे कई बाबा गुजरात आए। कुछ समय पहले गुजरात में धबूड़ी माता के एक नाम की चर्चा हुई थी। जब आशाराम के नाम की भी चर्चा हुई तो लोगों ने उसकी निंदा की। गुजरातियों ने बजरंगदास बापा और जलाराम बापा को आदर्श संत के रूप में स्वीकार किया है, क्योंकि बजरंगदास बापा और जलाराम बापा को ईश्वरीय दरबार लगाने की कभी आवश्यकता नहीं पड़ी।

राजकोट-अहमदाबाद में भी चैलेंज
बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र शास्त्री को राजकोट और अहमदाबाद से भी चुनौती मिली है। अहमदाबाद में डॉक्टर वसंत पटेल ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहा कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री में अगर दम होता तो वे अस्पताल में कैंसर और किडनी के मरीजों की देखभाल करते।’ तो राजकोट के सहकारी क्षेत्र के नेता और एक बैंक के सीईओ पुरुषोत्तम पिपलिया ने नशे के मुद्दे पर बाबा बागेश्वर को चुनौती दी है। बाबा बता दें कि राजकोट और गुजरात में नशा कहां से और किसके कहने पर आता है। तो वह 5 लाख रुपये भी देंगे और बाबा के भक्त बन जाएंगे। पिपलिया के निवेदन के बाद राजकोट में माहौल गरमा गया है। उन्हें धमकी भी मिली है। करणी सेना ने बाबा की सुरक्षा करने का फैसला किया है।

About bheldn

Check Also

महाराष्ट्र: BJP ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट से हटाया एकनाथ शिंदे और अजित पवार का नाम

नई दिल्ली, भाजपा ने शुक्रवार को महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार …