मैं बहुत अच्छा था यार… शिव नादर यूनिवर्सिटी वाले हत्यारे आशिक के मन में घुस गया था ‘शक का कीड़ा’

नोएडा

स्नेहा चौरसिया को मारने से पहले बनाए करीब 23 मिनट के वीडियो में अनुज सिंह के व्यक्तित्व की दरारें साफ नजर आ रही थीं। अनुज और स्‍नेहा दोनों ही ग्रेटर नोएडा की शिव नादर यूनिवर्सिटी में पढ़ते थे। बाद में अनुज ने खुद को भी गोली मार ली। यह क्लियर नहीं कि अनुज ने यह वीडियो कब और कहां रिकॉर्ड किया। अनुज की बातों से लगता है कि वह खुद में कन्‍फ्यूज था। रिश्ते में नाकामी का उसे गहरा सदमा लगा था। वीडियो में वह स्नेहा को पहले ‘जिंदगी की रौशनी’ बताता है और फिर कहता है कि वही उसकी जिंदगी में ‘अंधेरा बनकर छा’ गई है। अनुज आरोप लगाता है कि स्नेहा ने डिप्रेशन का बहाना कर ब्रेकअप किया मगर किसी और के साथ हो गई। वीडियो के आखिर में अनुज कहता है कि उसे ब्रेन कैंसर है और उसके पास ज्‍यादा वक्‍त नहीं।

अनुज का यह वीडियो एक सबक है। अगर कोई बात आपको परेशान कर रही है तो किसी से शेयर करें। खुद में सोचते रहने से गलत धारणाएं भी मजबूत होती जाती हैं और परिणति ग्रेनो शूटआउट जैसे कांड के रूप में होती है।

‘स्‍नेहा ने मेरी जिंदगी बदल दी’
वीडियो की शुरुआत में अनुज कहता है, ‘पूरा वीडियो देखिए, आपको पता लगेगा कि मैं जो करने जा रहा हूं, वो क्‍यों कर रहा हूं। मैं जो करने जा रहा हूं, वो जस्टिफाइएबल नहीं हैं।’ फिर वह कहानी शुरू करता है। बकौल अनुज, ‘मैं बहुत अच्छा लड़का था यार… किसी को फालतू परेशान नहीं करता था। पढ़ाई में बहुत अच्छा था, स्‍पोर्ट्स में बहुत अच्छा था, नैशनल लेवल का प्‍लेयर था एथलेटिक्स में। सब कुछ सही चल रहा था, बढ़‍िया। फिर मैं कॉलेज आया। एक लड़की मिली स्नेहा चौरसिया। उसने आकर मेरी जिंदगी बदल दी। उससे पहले मैंने काफी प्रॉब्‍लम्‍स झेलीं थीं लाइफ में। मेरी एक बहन थी और उनकी शादी हो चुकी थी, उनका एक बच्चा था… सब अच्‍छा चल रहा था लेकिन उनके पति ने उन्हें जिंदा जला दिया… पता नहीं उनकी क्‍या गलती थी! शायद वह अच्छी मां बनना चाह रही थीं। उनका बच्चा बीमार चल रहा था तो उसका ध्यान रखती थीं। फिर, मेरे चाचा की हार्ट अटैक से मौत हो गई क्योंकि उनकी बीवी उन्हें दूसरे मर्द के लिए छोड़कर चली गई।’

अनुज को होने लगा था स्‍नेहा पर शक
अनुज आगे वीडियो में कहता है कि स्‍नेहा ने उसे भव्‍य तरीके से प्रपोज किया। दोनों एक रिलेशनशिप में आ गए। मगर कुछ वक्‍त बाद कुछ चीजें अनुज को खटकने लगीं। अनुज ने दावा किया कि स्‍नेहा उसे धोखा देकर किसी दूसरे लड़के से अफेयर चला रही थी। वह बताता है, ‘लास्ट दिसंबर जब हमारी छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई होने लगी, तब मैं इसको बोलता था कि तुम बदल रही हो। लेकिन उन्हें तो भूत सवार था।’ अनुज ने कहा, ‘स्‍नेहा मुझे चीट करने लगी… इसने मेरे को कुछ पता नहीं चलने दिया।’

वीडियो में आगे अनुज कहता है, ‘न्यू ईयर के बाद जब यह घर से लौटकर आई जब सब कुछ बदलने लगा। एक दिन इसने बोला कि मुझे ब्रेक चाहिए। मैंने तो सच्चे दिल से उसे प्यार किया था। मैंने तो उससे कहा था कि कुछ भी हो जाए तो मुझे धोखा मत देना। फिर इसने मुझे ब्‍लैकमेल की बात बताई। मैंने सब भूलते हुए उसे बाहर निकाला।’ अनुज के अनुसार, ‘सब कुछ करने के बाद भी स्नेहा ने मुझे छोड़ दिया। इसने तो मेरी कहानी ही बदल ली। उसने सबको बताया कि अनुज मुझे टॉर्चर कर रहा है। ये तक बोला कि अनुज ने मुझपर हाथ उठाया, लातों से मारा।’

निराशा के गर्त में डूब गया था अनुज
वीडियो से जाहिर होता है कि कैसे अनुज निराशा के गहरे सागर में डूब गया था। इन गहराइयों में वह फंसता ही चला गया। उसने कहा, ‘मैं बिल्‍कुल टूट गया। मैं सबके सामने मुस्‍कुराता था मगर भीतर से टूट चुका था। मैं किसी रिलेशनशिप में आने और किसी पर भरोसा करने से डरने लगा।’ उसने कहा, ‘वो सबको पागल बना रही थी, मैं ये चीज एक्सेप्ट नहीं कर सकता। मैं एकतरफा प्‍यार करके भी जी सकता था अगर ये ऐसा नहीं करती।’

वीडियो खत्‍म होते-होते अनुज के तेवर राक्षसी होने लगते हैं। वह कहता है, ‘उसे सजा देने की जरूरत है।’ अनुज ने ऐलान सा किया, ‘कायर कह लो, डरपोक कह लो, राक्षस कह लो…. ये चीज मुझसे सहन नहीं हो रही। ऐसे इंसान को जीने का हक नहीं जो कई लाइफ बर्बाद करे।’

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …