नवीन पटनायक ने PM मोदी के लिए 2024 की ये क्या भविष्यवाणी कर दी!

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल तरीके से हरी झंडी दिखाकर ​ओडिशा की पहली वंदे भारत ट्रेन को रवाना किया। तस्वीरें आईं, सोशल मीडिया पर जिक्र हुआ लेकिन कुछ देर बाद राज्य के सीएम नवीन पटनायक चर्चा के केंद्र में आ गए। जी हां, ओडिशा के मुख्यमंत्री ने इशारा ही कुछ ऐसा किया था, जिसकी पूरे देश में चर्चा होने लगी। उन्होंने इशारों में ​ही गुरुवार को 2024 लोकसभा चुनाव के नतीजों की भविष्यवाणी कर दी। एक विपक्षी पार्टी के नेता की तरफ से इस तरह की बात सामने आई तो वीडियो वायरल होना ही था। नवीन बाबू और भाजपा के रिश्ते की भी बातें होने लगीं। कुछ लोगों ने 2024 में विपक्षी एकजुटता में सेंध लगने की बात कह दी। नवीन पटनायक की यह बात कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी दलों को चुभ सकती है। आगे पढ़िए ओडिशा के सीएम ने कहा क्या था?

दिल्ली में बैठे मोदी उन्हें सुन रहे थे
भाजपा के नेताओं ने पिछले लोकसभा चुनाव में ‘आएंगे तो मोदी ही’ का नारा खूब उछाला था। इस बार नवीन पटनायक अभी से यह संकेत देने लगे हैं। मौका था पुरी-हावड़ा वंदे भारत एक्सप्रेस को रवाना करने का। नवीन बाबू ने पीएम मोदी से पुरी-राउरकेला और भुवनेश्वर-हैदराबाद के बीच ऐसी दो ट्रेनें चलाने का अनुरोध किया। दिल्ली में बैठे पीएम मोदी उन्हें बड़े ध्यान से लाइव सुन रहे थे। पटनायक ने बताया कि हाल में उन्होंने प्रधानमंत्री से मिलकर पुरी में प्रस्तावित श्री जगन्नाथ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विस्तृत चर्चा की है। इसके बाद उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री के सहयोग और समर्थन से यह हवाई अड्डा 3-4 साल के भीतर तैयार हो जाएगा और माननीय प्रधानमंत्री इसे राष्ट्र को समर्पित करने के लिए ‘श्रीक्षेत्र’ (पुरी) आएंगे।’ बस फिर क्या था, यह बात सियासी गलियारों में तूफान बनकर उड़ गई।

इसी महीने मोदी से मिले थे सीएम नवीन
यह बयान बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने की कोशिशों के लिए बड़ा झटका है। कांग्रेस, जेडीयू, TMC जैसी पार्टियां ऐंटी-बीजेपी मोर्चा बनाने में जुटी हैं। नवीन पटनायक का बयान इसलिए भी अहम हो जाता है क्योंकि कर्नाटक में कांग्रेस की जीत के बाद से विपक्षी दल जोश में हैं। पिछले दिनों बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अलग-अलग ओडिशा में नवीन बाबू से मुलाकात की थी। इस पहल को कम बोलने वाले नवीन बाबू का मूड भांपने और विपक्षी एकजुटता को मजबूत करने की कोशिश समझा गया था।हालांकि 11 मई को प्रधानमंत्री मोदी और पटनायक की मुलाकात के बाद काफी कुछ साफ हो गया। वैसे सीएम एयरपोर्ट प्रोजेक्ट पर बात करने गए थे लेकिन उन्होंने घोषणा कर दी कि वह किसी भी तीसरे मोर्चे में शामिल नहीं होंगे और उनकी पार्टी बीजेडी 2024 का आम चुनाव अकेले लड़ेगी।

 

About bheldn

Check Also

‘कांग्रेस और JMM भ्रष्टाचार के भाई-भाई हैं’, गीता कोड़ा के नामांकन में बोले बाबूलाल मरांडी

रांची, कांग्रेस के हाथ का साथ छोड़कर बीजेपी में शामिल हुईं गीता कोड़ा चाईबासा यानी …