बसपा के टिकट पर बनीं आगरा में पार्षद अब थामा बीजेपी का दामन, पार्षदी पर फंसेगा पेच!

आगरा

यूपी के निकाय चुनाव के परिणाम बसपा के लिए निराशजनक रहे। बसपा की इस निराशा को खीझ में बदल दिया आगरा से बसपा के टिकट पर जीतीं पार्षद गौरा देवी ने। गौरा देवी ने जीत के बाद अब बीजेपी का दामन थाम लिया है। उन्‍होंने उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्‍यता ली। अब पेच इस बात पर है कि बसपा के टिकट पर जीतने के बाद बीजेपी की सदस्‍यता लेने से क्‍या उनकी पार्षदी पर आंच आएगी।

नगर न‍िगम वार्ड 74 से जीतीं बसपा उम्‍मीदवार गौरा देवी सिकरवार ने बीजेपी में शामिल होने की वजह भी बताई। पार्टी के आगरा महानगर अध्‍यक्ष को भेजे लेटर में उन्‍होंने इसके बारे में ल‍िखा है। उनका कहना है कि वह पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ की नीतियों से प्रभावित हैं। उन्‍होंने बीजेपी से टिकट पाने की कोशिश की थी लेकिन कामयाबी नहीं मिली।

वहीं बसपा के जिलाध्‍यक्ष ने इसे जनता के साथ धोखा बताते हुए कहा कि गौरा देवी की पार्षदी खत्‍म कराने के लिए कानूनी राय ली जाएगी। सेन ने आगे कहा कि उन्‍हें गौरा देवी के इस फैसले की जानकारी मीडिया से मिली। गौरा देवी ने जो कदम उठाया है वह अवसरवाद की पराकाष्‍ठा है। यूपी में हुए नगर निकाय चुनाव में बसपा को नगरपालिका की 199 सीटों में से 17 सीटों पर कायमाबी मिली थी। इसी तरह, नगर पंचायत की 544 सीटों में से 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …