प्रसन्नता मानव जीवन के लिए अनिवार्य: रावत

-बीएचईएल में राज्य आनंद संस्थान का प्रशिक्षण कार्यक्रम

भोपाल।

बीएचईएल नेे राज्य आनंद संस्थान, भोपाल मध्य प्रदेश सरकार के एक स्वायत्त संगठन के सहयोग से शनिवार को संस्थान में खुशी थीम के उपर आधारित अल्पविराम पर एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य मानव क्षमता को मजबूत करने की दृष्टि से जीवन में खुशी की प्रासंगिकता स्थापित करना था, जिससे घर, समाज और कार्यस्थल पर प्रदर्शन करने और उत्पादकता बढ़ाने की क्षमता पैदा हो। खुश रहना किसी भी चीज का पहला कदम है जिसे हम सफलतापूर्वक करना चाहते हैं।

कार्यक्रम में संस्था के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन अविनाश चंद्रा, और मोती सिंह रावत, अखिलेश अर्गल सीईओ और श्रीमती स्वागत एस सक्सेना एचओडी (एचआरडीसी)द्वारा किया गया। मोती सिंह रावत ने कहा कि प्रसन्नता मानव जीवन का एक अनिवार्य कारक है। अपने व्यक्तिगत और साथ ही पेशेवर लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए खुश रहने की जरूरत है। उन्होंने उन शुरुआती दिनों को भी याद किया, जब सुविधाओं का अभाव था, वे दिन कितने भी कठिन क्यों न हों, खुशियों से भरे हुए थे। समय बदलने के साथ, लोगों के पास पर्याप्त सुविधाएं हैं पर खुशी नहीं है।

अखिलेश अर्गल ने सभी प्रतिनिधियों का स्वागत किया और आनंद संस्थान के उपर प्रकाश डालते हुए कार्यक्रम के उद्देश्यों की जानकारी दी। उन्होंने इस प्रशिक्षण के आयोजन के लिए बीएचईएल प्रबंधन को धन्यवाद दिया और उसकी सराहना की और अविनाश चंद्रा ने सभी प्रतिभागियों को भागीदारी का प्रमाण पत्र प्रदान किया। स्वागत एस सक्सेना ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा और शिक्षकों को स्मृति चिन्ह के रूप में पुस्तक भेंट कर सम्मानित किया। मनु दीक्षित, उमेश सावले और सुशांत कुमार सुर ने कार्यक्रम का समन्वयन किया।

About bheldn

Check Also

महावीर जयंती पर उद्योग नगरी में निकलेगी पालकी और शोभायात्रा

भोपाल भगवान महावीर की जयंती 21 अप्रैल को धार्मिक अनुष्ठानों के बीच मनेगी। भोपाल शहर …