फिर पुराने अंदाज में अडानी के शेयर, SC की कमेटी से क्लीनचिट के बाद लगातार दूसरे दिन तूफानी तेजी!

नई दिल्ली,

अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में आज जोरदार तेजी देखने को मिली. अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी पोर्ट्स, अडानी पावर और अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों ने आज जोरदार उड़ान भरी है. अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर 19 फीसदी से अधिक चढ़े. इसके अलावा अडानी विल्मर और अडानी ग्रीन में अपर सर्किट लगा. शेयरों में आई जोरदार तेजी के दम पर अडानी ग्रुप का मार्केट कैपिटलाइजेशन 10 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया.

आंकड़ों से पता चलता है कि अडानी समूह का मार्केट कैपिटलाइजेशन (Mcap) सोमवार के कारोबार में लगभग 68,400 करोड़ रुपये बढ़कर 10,03,861 करोड़ रुपये हो गया, जबकि शुक्रवार को क्लोजिंग के समय Mcap 9,34,485 करोड़ रुपये पर था.

अडानी एंटरप्राइजेज में जोरदार उछाल
अडानी समूह की प्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज 19.55 फीसदी की तेजी के साथ 2,338.55 रुपये पर आज बंद हुए. इसके बाद अडानी विल्मर में 10 फीसदी की तेजी पर अपर सर्किट लगा. अडानी पोर्ट्स 9 फीसदी और अंबुजा सीमेंट्स 6 फीसदी उछले. अडानी समूह के पांच शेयर अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी पावर, अडानी टोटल गैस, अडानी ट्रांसमिशन और एनडीटीवी में पांच फीसदी की तेजी के साथ अपर सर्किट लगा. शेयरों की कीमतों में तेज उछाल तब आया जब यह बताया गया कि समूह चुनिंदा रियल स्टेट संपत्तियों के मोनेटाइजेशन पर विचार कर सकता है.

हिंडनबर्ग ने दिया था तगड़ा झटका
24 जनवरी को अमेरिकी रिसर्च फर्म हिंडनबर्ग की रिपोर्ट ने अडानी ग्रुप को झटका दिया था. तब अडानी ग्रप का मार्केट कैपिटलाइजेशन 19.20 लाख करोड़ रुपये पर था. इसके अनुसार, अभी भी समूह मार्केट कैप 48 फीसदी नीचे है. हिंडनबर्ग रिसर्च ने अडानी ग्रुप पर स्टॉक में हेरफेर का आरोप लगाते हुए एक तीखी रिपोर्ट जारी की थी.

हिंडनबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में अडानी ग्रुप पर स्टॉक में हेरफेर और अकाउंट में धोखाधड़ी का आरोप लगाया था. इस रिपोर्ट के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई थी. साथ ही अडानी एंटरप्राइजेज ने अपने 20,000 करोड़ रुपये के फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) को वापस ले लिया था. इसके बाद समूह ने कर्ज संबंधी मामलों को निपटाने के लिए कई कदम उठाए थे.

जेफरीज ने दी बाय रेटिंग
सोमवार को जेफरीज ने अडानी समूह के दो शेयरों अडानी ट्रांसमिशन और अडानी पोर्ट्स पर ‘बाय’ रेटिंग दी है. ब्रोकरेज ने कहा कि अडानी पोर्ट मिडियम में टर्म में बढ़ोतरी डबल डिजिट में जारी रह सकती है. अडानी पोर्ट्स के मामले में, जेफरीज ने कहा कि कंपनी 22 फसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ वॉल्यूम के अनुसार, भारत की सबसे बड़ी पोर्ट ऑपरेटर है.

इस बीच, भारतीय इक्विटी बेंचमार्क ने आज दूसरे सीधे सत्र में अपने मुनाफे को बढ़ाया. 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 234 अंक या 0.38 फीसदी बढ़कर 61,964 पर बंद हुआ. वहीं, एनएसई निफ्टी इंडेक्स 111 अंक या 0.61 प्रतिशत बढ़कर 18,314 पर बंद हुआ.

About bheldn

Check Also

“हम सब मरने वाले हैं…” अचानक इस भारतीय अरबपति ने क्‍यों कहा ऐसा?

नई दिल्‍ली , हम सभी मरने वाले हैं, इसलिए जिंदगी को बहुत ज्‍यादा सीरियस लेने …