भीषण गर्मी की मार, झुलसने लगी सब्जियां, मौसम विभाग के पूर्वानुमान से बढ़ी किसानों की टेंशन

नई दिल्ली,

देश के कई हिस्सों में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है. उत्तर भारत के कई राज्यों में तो तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच चुका है. इस गर्मी का असर लोगों के साथ-साथ पशु-पक्षियों और सब्जियों पर भी दिख सकता है. सब्जियों की फसले सूर्य देव की प्रचंड तपिश से झुलसने लगी हैं, जिससे फसलों की पैदावार पर असर पड़ने के कारण सब्जी लगाने वाले किसानों को आर्थिक नुकसानन भुगतना पड़ सकता है. ऐसे में किसान चिंतित हैं.

मॉनसून का इंतजार
किसान मॉनसून का इंतजार कर रहे हैं. अगर वक्त रहते मॉनसून दस्तक दे देता है तो किसान काफी हद तक नुकसान से बच सकते हैं. यदि अच्छी बारिश होती है तो न केवल सब्जियों की फसलों को संजीवनी मिलेगी बल्कि धान की बुआई के लिए खेत तैयार करने में भी मदद मिलेगी.

गर्मी के दिनों में पौधों और जमीन में पर्याप्त नमी बनाये रखने के लिए समय-समय पर जरूरत अनुसार सिंचाई करते रहें. यह कारगर उपाय है, इससे पौधों और जमीन में नमी बनी रहेगी. अगर धान की फसल को पर्याप्त पानी नहीं मिली तो उसके उत्पादन में कमी आ सकती है.

मौसम विभाग का पूर्वानुमान
मौसम विभाग के मुताबिक, भारत की 19 प्रतिशत आबादी को मॉनसून के दौरान सामान्य से कम बारिश और लगभग 13 प्रतिशत आबादी को सामान्य से अधिक बारिश का सामना करना पड़ सकता है. मौसम विभाग के पूर्वानूमान के मुताबिक, इस बार केरल में मॉनसून देर से दस्तक देगा. ‘साउथ एशियन सीजनल क्लाइमेट आउटलुक फोरम’ (SASCOAF) के अनुसार, उत्तर में सामान्य से कम बारिश होने की 52 प्रतिशत संभावना है. देश के मध्य भागों में सामान्य से कम वर्षा की 40 प्रतिशत संभावना है. वहीं, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के मौसम में सामान्य बारिश होने का अनुमान है.

पिछले साल सूखे के प्रकोप के चलते फसल हुई थी चौपट
पिछला साल किसानों के लिए काफी नुकसानदायक रहा है. उत्तर-मध्य भारत में किसानों को सूखे की स्थिति का सामना करना पड़ा था. उत्तर प्रदेश के तकरीबन 62 जिले में सूखे की स्थिति देखी गई थी. बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश में भी किसानों कम बारिश के चलते भारी नुकसान झेलना पड़ा था.

दिल्‍ली में मॉनसून देरी से आएगा!
मई में एक के बाद एक आ रहे वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से बारिश हो रही है और आंधी आ रही है। लेकिन मौसम के विभिन्न मॉडल संकेत दे रहे हैं कि राजधानी में मॉनसून का सीजन काफी खराब रह सकता है। मॉनसून अपने समय से 10 से 12 दिन देरी से यहां दस्तक दे सकता है। इतना ही नहीं राजधानी में बारिश की तीव्रता भी जून और बाकी सीजन में सामान्य से कम ही रहेगी। यानी यह मॉनसून राजधानी में सबसे लेट दस्तक देने वाले मॉनसून में शामिल हो सकता है।

उत्तर प्रदेश के 18 जिलों में लू का अलर्ट जारी
भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सोमवार के लिए यूपी के 18 जिलों में लू की चेतावनी जारी की है। लू की चपेट में आने वाले जिले बांदा, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रयागराज, फतेहपुर, सोनभद्र, मिजार्पुर, मथुरा, आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, औरैया, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर और आसपास के क्षेत्र हैं।

आने वाले 5 वर्ष अब तक के सबसे गर्म वर्ष होंगे : एक्‍सपर्ट
वैज्ञानिक एवं जेसीडी विद्यापीठ, सिरसा के महानिदेशक डॉ. कुलदीप सिंह ढींडसा ने कहा है कि आने वाले पांच वर्ष अब तक के सबसे गर्म वर्ष होंगे। यह ग्रीन हाऊस गैसों एवं प्राकृतिक आपदा अल-नीनो के मिले-जुले प्रभाव का परिणाम होगा। विश्व मौसम विज्ञान संगठन के अनुमान के अनुसार 2023 से 2027 तक तापमान में 1.1 डिग्री सेंटीग्रेड से 1.8 डिग्री सेंटीग्रेड तक की बढ़ोतरी हो सकती है जो कि 1850 से 1900 तक की औसत से अधिक है।

उत्तराखंड में 27 मई तक चक्रवाती तूफान का अलर्ट
उत्तराखंड में मौसम विभाग ने 22 से 27 मई तक चक्रवाती तूफान का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग की इस चेतावनी के बाद उत्तरांचल पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन (यूपीसीएल) ने सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। उत्तरांचल पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 27 मई तक सभी अधिकारियों को अपने कार्यालयों में तैनात रहने के निर्देश जारी किए हैं। 18 मई को आई जबर्दस्त आंधी और बारिश के कारण उत्तराखंड में पेड़ गिरने से कई जगहों पर बिजली की लाइनें टूट गई थी और कई स्थानों पर ट्रांसफार्मर भी क्षतिग्रस्त हो गए थे। आंधी से हुए नुकसान के बीच यूपीसीएल ने अधिकांश स्थानों पर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी थी।अब मौसम विभाग ने एक बार फिर से 22 से 27 मई तक चक्रवाती तूफान का अलर्ट जारी किया है। इसको देखते हुए उन्होंने सभी क्षेत्र इकाइयों को विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने के निर्देश दिए हैं। मौसम विभाग के इस अलर्ट के बाद चारधाम यात्रा पर आ रहे श्रद्धालुओं से भी मौसम की जानकारी के बाद यात्रा पर आने की अपील की जा रही है।

 

About bheldn

Check Also

MCD ने इन दो तरीकों से गाजीपुर लैंडफिल साइट पर लगी आग पर पाया गया काबू

नई दिल्ली, दिल्ली नगर निगम ने रविवार से गाजीपुर लैंडफिल साइट पर लगी आग को …