मंडप छोड़ भागा दूल्हा तो दुल्हन ने 20 KM पीछा कर बस में दबोचा, पकड़कर वापस लाई और रचाई शादी

बरेली

पिछले करीब ढाई साल के प्रेम प्रसंग के बाद युवक और युवती ने विधिवत शादी करने का फैसला लिया। मंदिर में मंडप सजाया गया। लेकिन दूल्हे का अचानक मूड बदल गया और वह मंडप परिसर से भाग निकला। काफी देर तक दूल्हा नहीं आया तो दुल्हन खुद ही उसे ढूंढ़ने निकल पड़ी। उधर दूल्हा बस में बैठकर जाने की तैयारी में था, तभी दुल्हन ने उसे धर दबोचा और फिर शादी रचाई। मामला बरेली जिला से संबंधित है। यहां सजे हुए मंडप परिसर से चुपचाप भागे दूल्हे को दुल्हन ने जबरन धर दबोचा और मंदिर में शादी रचाई। करीब 2 घंटे से ज्यादा ये ड्रामा चला, इसे तमाम लोग देख रहे थे लेकिन साहसी दुल्हन सात फेरे लेने तक संघर्ष करने में पीछे नहीं रही।

बस में दबोचा दूल्हा
रविवार को आपसी सहमति से लड़की वालों ने भूतेश्वर नाथ मंदिर में मंडप सजाया था। सभी तैयारियां हो चुकी थी। दुल्हन खुद सजी बैठी थी, दूल्हा का इंतजार हो रहा था। काफी देर तक दूल्हा मंडप में नहीं पहुंचा तब दुल्हन ने उसको फोन लगाया और जानकारी ली, तब पता चला कि वह भागने की तैयारी में है। इसके बाद दुल्हन मंडप से उठकर दूल्हे को पकड़ने निकल गई। कई किलोमीटर दूर बस में बैठकर भागने की तैयारी में दूल्हे को धर दबोचा। दूल्हे ने कहा कि वह अपनी मां को लेने जा रहा है, उसके बाद वह खुद भी सजेगा संवरेगा और शादी करेगा। लेकिन दुल्हन ने एक नहीं सुनी और उसे मंदिर परिसर में सजे मंडप ले आई, यहां दोनों ने फेरे लिए। दो घंटे तक चले ड्रामे के बाद दोनों मंदिर में जाकर एक-दूजे के हुए।

यह था मामला
बरेली में पुराना शहर निवासी एक युवती का करीब ढाई साल से बिसौली (बदायूं) निवासी एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों ने जीवन भर साथ जीने-मरने की वादा भी किया। युवती के घरवालों को इसकी भनक लग गई। उन्होंने युवती को प्रेमी युवक से शादी करने की सलाह दी। युवती ने अपने प्रेमी को शादी करने के लिए रजामंद किया। रविवार भूतेश्वरनाथ मंदिर में युवती के घरवालों की मौजूदगी में शादी कराने की तैयारी की गईं। युवती अपने प्रेमी के साथ ब्यूटी पार्लर में सज-धजकर दुल्हन बनकर फेरे लेने को मंदिर के मंडप में पहुंची। लेकिन यहां प्रेमी का मूड बदल गया। वह वहां से मौका पाकर भाग निकला। मंदिर के मंडप में अपने घरवालों के साथ बैठी दुल्हन काफी देर तक प्रेमी को फेरे लेने के लिए आने का इंतजार करती रही।

ज्यादा देर होने पर दूल्हे से फोन पर संपर्क किया, तो उसने बताया वह अपनी मां को बुलाने बिसौली जा रहा है। दूल्हे की बात सुनकर अपने घरवालों को लेकर दुल्हन सीधे उसे पकड़ने निकल पड़ी। इसके बाद बरेली शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर भमोरा में उसने बस में दूल्हे को पकड़ लिया। दुल्हन उसे बस से उतारकर मंडप ले जाने लगी। दो घंटे तक ड्रामा होता देख भीड़ जमा हो गई। बाद में शर्मिंदा हुए युवक ने दुल्हन से शादी करने की हामी भरी।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …